Custom Heading

आम बजट में इन प्रमुख मुद्दों पर हो सकते हैं बड़े ऐलान
-आर्थिक सर्वेक्षण 31 जनवरी और बजट एक फरवरी को होगा पेश नई दिल्ली, 29 जनवरी (हि.स.)। वित्त मंत्री न
वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट के लोगो का फाइल फोटो 


-आर्थिक सर्वेक्षण 31 जनवरी और बजट एक फरवरी को होगा पेश

नई दिल्ली, 29 जनवरी (हि.स.)। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को संसद में वित्त वर्ष 2022-23 का आम बजट पेश करेंगी। कोरोना महामारी और महंगाई की दोहरी मार झेल रहे आम आदमी को इस बार बजट से बड़ी उम्मीदें हैं। देश की जनता के जख्मों पर सरकार बजट के जरिए जरूर मरहम लगाने का काम करेगी। इसमें आयकर छूट, बचत और रेल किराये जैसे जरूरी क्षेत्रों को लेकर राहतों का ऐलान हो सकता है।

देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को देश की जनता को वित्तीय लेखा-जोखा से जनता को अवगत कराएंगी। साल 2014 में सत्ता में आने के बाद से जहां 2022-23 का बजट नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार का 10वां बजट होगा, वहीं 2019 में वित्त मंत्री का पद संभालने के बाद से निर्मला सीतारमण का यह चौथा बजट होगा।

बजट भाषण का प्रसारण आधिकारिक चैनल संसद टीवी और राष्ट्रीय चैनल दूरदर्शन पर किया जाएगा। दर्शक आम बजट के लाइव एड्रेस को संसद टीवी यूट्यूब चैनल पर भी देख सकते हैं। इसके अलावा बजट को देशभर के राष्ट्रीय के साथ-साथ निजी समाचार चैनलों के द्वारा भी लाइव कवर किया जाएगा। आम बजट पेश करने से एक दिन पहले 31 जनवरी को केंद्र सरकार की ओर से संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि आर्थिक सर्वेक्षण वित्त मंत्रालय का एक प्रमुख वार्षिक दस्तावेज होता है, जो पिछले वित्तीय वर्ष में देश के आर्थिक विकास की समीक्षा करता है। आर्थिक सर्वे सभी क्षेत्रों-औद्योगिक, कृषि, विनिर्माण सहित अन्य क्षेत्र के आंकडों (डाटा) का पूरा विवरण देता है। भारत में पहला आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 1950-51 में प्रस्तुत किया गया था। साल 1964 तक बजट और आर्थिक सर्वेक्षण एक साथ पेश किए गए। साल 1964 के बाद आर्थिक सर्वेक्षण और आम बजट दोनों अलग हो गए।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रजेश शंकर


 rajesh pande