Custom Heading

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन से जुड़े भारतीय रेलवे के 695 अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्र
- इससे 80 लाख रेलवे कर्मचारियों, पेंशनभोगियों और उनके परिवार के सदस्यों को होगी सुविधा नई दिल्ली, 2
आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन से जुड़े भारतीय रेलवे के 695 अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्र


- इससे 80 लाख रेलवे कर्मचारियों, पेंशनभोगियों और उनके परिवार के सदस्यों को होगी सुविधा

नई दिल्ली, 29 जनवरी (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अग्रणी परियोजनाओं में से एक “आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन” (एबीडीएम) के कार्यान्वयन को पूरा करने के लिए देश भर में भारतीय रेलवे के सभी 695 अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों को एबीडीएम के साथ सफलतापूर्वक एकीकृत किया गया है। इस कदम से न केवल लगभग 80 लाख रेलवे कर्मचारियों और रेलवे पेंशनभोगियों और उनके परिवार के सदस्यों को यह सुविधा मिलेगी, बल्कि आम जनता को देश के विभिन्न रेलवे अस्पतालों में इन हेल्थ केयर सुविधाओं को निर्बाध डिजिटल ढ़ंग से प्राप्त करने में भी मदद मिलेगी।

यदि रेलवे के रोगी देश में कहीं भी विशेष उपचार के लिए रेलवे स्वास्थ्य प्रणाली से बाहर एबीडीएम के साथ एकीकृत किसी अन्य अस्पतालों में जा रहे हैं, तो इस एकीकृत प्रणाली की मदद से, डिजिटल रूप से मेडिकल रिकॉर्ड का आदान-प्रदान आसानी से हो सकेगा।

इस बारे में बात करते हुए रेलटेल के सीएमडी पुनीत चावला ने कहा, “रेलटेल देश में हो रही डिजिटल ट्रांसफार्मेशन गतिविधियों और भारत सरकार की डिजिटल इंडिया पहल में एक प्रमुख भूमिका निभाने के लिए प्रतिबद्ध है। कंपनी ने हाल ही में देश भर के सभी 695 रेलवे अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में “अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस)” के क्रियान्वयन के कार्य को पूरा किया है जो रेलवे की स्वास्थ्य प्रणाली के लिए एक गेम चेंजर साबित हुआ है। अब, रेलवे एचएमआईएस का एबीडीएम के साथ एकीकरण, लाभार्थियों को एबीडीएम इको सिस्टम के लाभों को निर्बाध डिजिटल तरीके से प्राप्त करने में मदद करेगा। एबीडीएम के साथ अस्पतालों का यह एकीकरण उत्तरोत्तर देश के प्रत्येक नागरिक तक अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं की पहुंच सुनिश्चित करेगा और उन्हें सर्वोत्तम डिजिटल हेल्थ केयर मुहैया कराएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील


 rajesh pande