Custom Heading

उप्र में जंगलराज कानून व्यवस्था ध्वस्त : सरदार सेना
-दोषियों पर जल्द से जल्द किया जाए कार्रवाई जौनपुर,29 जनवरी (हि.स.)। सरदार सेना सामाजिक संगठन के द्व
उप्र में जंगलराज कानून व्यवस्था ध्वस्त : सरदार सेना


-दोषियों पर जल्द से जल्द किया जाए कार्रवाई

जौनपुर,29 जनवरी (हि.स.)। सरदार सेना सामाजिक संगठन के द्वारा विभिन्न मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट परिसर में शनिवार को प्रशासनिक अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान जिलाध्यक्ष अरविन्द कुमार पटेल ने कहा कि आरआरबी-एनटीपीसी रिजल्ट में हुए धांधली को लेकर अभ्यर्थियों के प्रदर्शन के बीच उत्तर प्रदेश के प्रयागराज व बिहार प्रान्त के विभिन्न जगहों पर जो पुलिस प्रशासन द्वारा छात्रों के साथ घातक रवैया अपनाया गया वह निदंनीय और दुर्भाग्यपूर्ण है।

इस मुद्दे को लेकर सरदार सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. आर. एस. पटेल के निर्देश पर सरदार सेना कार्यकर्ताओं द्वारा महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित प्रदेशव्यापी ज्ञापन सौंपने का कार्य किया गया। जिलाध्यक्ष अरविन्द कुमार पटेल ने कहा कि उप्र में जनपद प्रयागराज के एक हॉस्टल में घुसकर दरवाजा तोड़कर छात्रों के साथ जो ताडंव किया गया वह बर्दाश्त नहीं है। उत्तर प्रदेश व बिहार में सबसे ज्यादा युवा हैं और यहां बेरोजगारी की दर भी सबसे ज्यादा है। सरकारें उनके लिए नौकरियों का वादा करती तो हैं, लेकिन जब वे नौकरी की मांग को लेकर सड़कों पर उतरते हैं तो सरकारों द्वारा उन पर लाठियां बरसायी जाती है। सरदार सेना ने शुक्रवार को बिहार बंद के आह्वान का समर्थन भी किया था। इसलिए इस मुद्दे को लेकर सरदार सेना सामाजिक संगठन द्वारा सरकार से निम्न पांच मांग किया जा रहा है।

सरदार सेना ने मांग किया कि आरआरबी-एनटीपीसी रिजल्ट में हुए धांधली की तत्काल जांच किया जाय, अभ्यर्थियों पर हुए हिटलरशाही पुलिसिया लाठीचार्ज पर योगी-मोदी जवाब दो। अभ्यर्थियों के कट आफ के साथ पुन: रिजल्ट जारी किया जाय। ग्रुप डी में दो परीक्षा पीटी एंव मेंस का तुगलगी फरमान वापस लिया जाय। रेलवे निजीकरण पर रोक लगाई जाए। साथ ही विगत 21 जनवरी को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में छतारी थाना अन्तर्गत धौरऊ गांव में हुए 16 वर्षिय पिंकी लोधी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में पुलिस द्वारा मामले की लिपापोती करने को लेकर सरदार सेना ने महामहिम राज्यपाल को संबोधित तीन सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। सरदार सेना मांग करती है कि बालात्कारियों को जल्द से जल्द सजा-ए-फांसी दी जाये। मृतक के परिवार को उचित मुआवजा और एक सदस्य को सरकार नौकरी दी जाय।

हिन्दुस्थान समाचार/विश्व प्रकाश


 rajesh pande