Custom Heading

छात्रहित में अभाविप ने पांच सूत्री मांगों को लेकर प्राचार्य को सौंपा पत्र
बेगूसराय, 29 जनवरी (हि.स.)। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के स्नातक द्वितीय एवं तृतीय खंड के नामा
मांगपत्र सौंपते कार्यकर्ता


बेगूसराय, 29 जनवरी (हि.स.)। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के स्नातक द्वितीय एवं तृतीय खंड के नामांकन में मनमानी वसूली सहित पांच सूत्री मांगों को लेकर शनिवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने एसबीएसएस कॉलेज के प्राचार्य को मांग पत्र सौंपा है। नेतृत्व कर रहे बेगूसराय नगर सह मंत्री कमल कश्यप ने कहा कि आए दिन छात्रों के साथ विश्वविद्यालय से लेकर महाविद्यालय तक सिर्फ हक का हनन होता आया है। महाविद्यालय में हो रहे स्नातक पार्ट-टू एवं पार्ट-थर्ड के छात्र-छात्राओं का नामांकन ऑनलाइन के माध्यम से शुरू किया गया है। यह नामांकन दो महीने पूर्व से ही शुरू किया गया, जिसमें छात्र-छात्राओं का साइबर कैफे द्वारा रुपया का गबन किया जा रहा है। 2021 में बिहार सरकार द्वारा पत्र जारी कर सभी एससी-एसटी छात्रों का महाविद्यालय नामांकन फीस कम करने का आदेश दिया गया था। इसपर फीस कम भी हुआ, लेकिन ऑनलाइन के माध्यम से तमाम छात्रों का उससे भी कई गुना ज्यादा रुपया का लूट हो रहा है, जो कि छात्रों के साथ अन्याय है।

मौके पर मौजूद प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अजय कुमार ने कहा कि जब इंटर मैट्रिक के परीक्षा में वैक्सीन लिए हुए सभी छात्र बोर्ड के एग्जाम सम्मिलित हो सकते हैं तो क्या कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए वैक्सीन लिए हुए छात्रों का हक नहीं है कि उनको ऑफलाइन के माध्यम से वर्ग में सुचारू ढंग से पढ़ाया जा सके। महाविद्यालय में वर्ग संचालित हो इसके लिए विद्यार्थी परिषद हमेशा तत्पर है जो कि छात्र-छात्राओं का पहला हक होता है। जिला सोशल मीडिया प्रभारी शुभम कश्यप एवं छोटू कुमार ने कहा कि सरकार इस कोरोना काल में छात्रों का दोहरा शोषण कर रही है। जहां एक तरफ उनको ऑनलाइन के माध्यम से पढ़ाने का ढ़ोंग रचती है तो वहीं दूसरी ओर ऑनलाइन नामांकन पर चार्ज लेकर छात्रों का सिर्फ हनन करती जा रही है। मौके पर मौजूद पूर्व महाविद्यालय प्रतिनिधि अमित एवं अमन ने कहा विद्यार्थी परिषद कॉलेज में शैक्षणिक एवं स्वच्छ वातावरण के निर्माण के लिए कटिबद्ध है। अभाविप महाविद्यालय प्रशासन से अनुरोध करती है कि सभी मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाए, अन्यथा विद्यार्थी परिषद उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी। मौके पर राजा, राहुल एवं आलोक सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र


 rajesh pande