Custom Heading

बघेल सरकार में आदिवासी हितों का संरक्षण सर्वोपरि : हरीश कवासी
भाजपा सरकार के 15 वर्ष में सबसे अधिक धर्मांतरण हुआ सुकमा, 10 अगस्त (हि. स.) सुकमा जिला पंचायत अध्य
जिला पंचायत अध्यक्ष प्रेस वार्ता करते हुए


भाजपा सरकार के 15 वर्ष में सबसे अधिक धर्मांतरण हुआ

सुकमा, 10 अगस्त (हि. स.) सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी ने प्रेस वार्ता के माध्यम से भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा धर्म के नाम पर राजनीति करते हुए लोगों को बांटने का काम करती है, जबकि प्रदेश की भूपेश बघेल की सरकार लगातार आदिवासी हितों के लिए कार्य कर रही है। आज भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं रहा है। आज पूरे देश में बेरोजगारी और महंगाई चरम पर है, ऐसे में इन लोगों के पास अब जनता के बीच जाने के लिए कोई रास्ता नहीं बचा है। वह अब धर्म के नाम पर राजनीति चमकाने का काम करने लगे हैं जबकि प्रदेश भाजपा के 15 वर्ष के शासनकाल में सबसे अधिक धर्म परिवर्तन हुआ है।

उन्होंने कहा कि भारत देश धर्मनिरपेक्ष देश है जहां किसी भी व्यक्ति को किसी भी धर्म या मजहब को मानने के लिए उसके पास स्वतंत्र अधिकार है। इस दौरान सुकमा नगर पालिका अध्यक्ष जगन्नाथ राजू साहू, मनोज गुप्ता, रम्मू राठी, विशाल शाह, प्रेस वार्ता में शामिल हुए। हरीश कवासी ने कहा कि भाजपा अपनी नाकामी छुपाने के लिए धर्म की राजनीति कर रही हैं। भाजपा की हमेशा से यही नीति रही हैं कि धर्म की राजनीति करो और सत्ता हासिल करो। हमारी भूपेश बघेल की सरकार लगातार आदिवासियों के हित में कार्य कर रही हैं।

भाजपा के शासनकाल में सबसे अधिक चर्च बने

हरीश कवासी ने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि सरकार श्वेत पत्र जारी कर बताए कि भाजपा सरकार में बस्तर समेत छत्तीसगढ़ में कितने चर्च बने हैं। यह जानकारी सार्वजनिक करे ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए। चूंकि अब जब चुनाव नजदीक आ रहा है तो भाजपाइयों को धर्मांतरण पर एसआईटी गठित करने और पोलावरम बांध से आदिवासियों को नुकसान होने का मुद्दा बनाकर राजनीति करना चाह रही है। इस वक्त भाजपा के पास कोई भी मुद्दा नही है। वे बस देश को धर्म के नाम पर बाटना जानते हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/जीतेन्द्र


 rajesh pande