हमारे बारे में

    05-Jul-2021 13:55:39 PM
Total Views |
परिचय
 
हिन्दुस्थान समाचार भारत की पहली एक मात्र भाषाई राष्ट्रीय न्यूज एजेंसी है। इसकी स्थापना 10 अप्रैल, 1948 को एक को-ऑपरेटिव सोसाइटी के रूप में हुई थी। इसका राष्ट्रीय मुख्यालय दिल्ली है। देश के विभिन्न राज्यों में इसके 22 ब्यूरो कार्यरत हैं। फिलहाल 600 स्थानों पर हिन्दुस्थान समाचार के संवाद-सूत्र हैं, जो चौबीसो घंटे अपनी सेवा दे रहे हैं।
अपने व्यापक नेटवर्क के साथ हिन्दुस्थान समाचार देश की सर्वाधिक ग्राहकों वाली न्यूज एजेंसियों में शीर्ष पर है। दैनिक समाचार पत्रों के साथ-साथ साप्ताहिक पत्रिकायें, न्यूज-पोर्टल, न्यूज चैनल हमारे ग्राहक हैं। स्कैन सर्विस के जरिए सैकड़ों संस्थाओं को हम अपनी न्यूज सर्विस प्रदान कर रहे हैं। हमारा कौशल विविध भारतीय भाषाओं में त्वरित गति से खबर देना है। हिन्दी और उर्दू के साथ-साथ बांग्ला, असमिया, ओडिया, मराठी, गुजराती, कन्नड़, तेलुगू, पंजाबी, नेपाली आदि भाषाओं में हमारी सर्विस प्रभावपूर्ण है। देश के सर्वाधिक प्रसार संख्या वाले प्रतिष्ठित समाचार चैनल ‘डीडी न्यूज’ और ‘आकाशवाणी’ को छह भाषाओं में हम अपनी सेवा प्रदान कर रहे हैं। नेपाली भाषा के कई अखबार भी हमारे ग्राहक हैं।
तमाम झंझावात के बावजूद मीडिया जगत में हम अडिग रहे हैं और यकीनन, आगे भी रहेंगे। खबर को पूरी प्रामाणिकता के साथ प्रस्तुत करना हमारा धर्म रहा है। पिछले 73 वर्षों हम अपने पत्रकारीय धर्म का पालन करते आ रहे हैं और आगे भी करेंगे। न्यूज एजेंसी की दुनिया में हमारी विश्वसनीयता का लोहा माना जाता है।
पत्रकारीय मूल्यों के साथ-साथ लोकतंत्र को परिष्कृत करने में भी हमने यथासंभव अपनी भूमिका निभाई है। आपातकाल के दिनों में लोकतंत्र की रक्षा के लिए हिन्दुस्थान समाचार की जो भूमिका रही है, वह हमारा स्वर्णिम इतिहास है। निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता के चलते हिन्दुस्थान समाचार सत्ता प्रतिष्ठान का कोपभाजक बनता रहा है। लेकिन, हमारा लक्ष्य रहा है- ‘लोकतंत्र का परिष्कार और पुरस्कार।’
 
हमारी अन्य सेवाएं-
 
हिन्दुस्थान समाचार लेख, फीचर, फोटो सर्विस भी प्रदान करता है। आधुनिक प्रौद्योगिकी को ध्यान में रखते हुए हम न्यूज स्कैन की सेवा भी प्रदान कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार द्वारा वार्षिकी का भी प्रकाशन किया जाता रहा है। यह प्रतिवर्ष की महत्वपूर्ण जानकारी समेटते हुए इतिहास दृष्टि विकसित करने के लिए प्रतिष्ठित है। ‘यथावत’ हिन्दुस्थान समाचार समूह की हिन्दी पाक्षिक पत्रिका है। इस पत्रिका ने पाठकों के बीच अपनी स्वतंत्र और मजबूत पहचान बनाई है। इसके साथ-साथ ‘युगवार्ता’ (हिन्दी साप्ताहिक), ‘नवोत्थान’ (हिन्दी व बांग्ला मासिक) का भी प्रकाशन किया जाता रहा है। कोरोना महामारी के मद्देनजर फिलहाल ‘यथावत’ पत्रिका छप रही है।
भारतीय नववर्ष (चैत्र प्रतिपदा) के अवसर पर प्रतिवर्ष हिन्दुस्थान समाचार की तरफ से दैनन्दिनी का प्रकाशन किया जाता है, जिसमें भारतीय तिथि के साथ-साथ अंग्रेजी दिनांक भी होते हैं। भारतीय काल-क्रम पर आधारित यह दैनन्‍दिनी बहुपयोगी है।
हमारे संस्थापक
पश्चिमी प्रभाव के बीच भारतीय विचार-दृष्टि के उर्वर भूमि तैयार करने में शामिल रहे चिंतक (स्व.) शिवराम शंकर आप्टे ने हिन्दुस्थान समाचार न्यूज एजेंसी की स्थापना की थी। देवनागरी लिपि में ‘टेलीप्रिन्टर’ आविष्कार का श्रेय स्व. श्री शिवराम शंकर आप्टे (दादा साहब आप्टे) को ही है, जबकि भारतवंशियों को भाव-भूमि से जोड़ने वाले (स्व.) बालेश्वर अग्रवाल के यशस्वी संपादन व प्रबंधन में हिन्दुस्थान समाचार देश की सबसे प्रामाणिक और प्रतिष्ठित न्यूज एजेंसी के रूप में स्थापित हुई।
एक समय ऐसा भी आया, जब हिन्दुस्थान समाचार अपने वजूद के लिए संघर्ष कर रहा था। तब राष्ट्र कार्य के लिए समर्पित (स्व.) श्रीकांत जोशी ने हिन्दुस्थान समाचार को नया जीवन दिया। हिन्दुस्थान समाचार न्यूज एजेंसी मूल मंत्र है-सत्य, संवाद, सेवा और सहकार। इसी पथ पर समाचार एजेंसी आगे बढ़ रही है।