नदी व डैम के पास से अतिक्रमण हटाने के सर्वे कार्य का नगर आयुक्त ने किया निरीक्षण
रांची, 22 जुलाई (हि.स.)। रांची की प्रमुख नदी, डैमों और अन्य स्रोतों पर से अतिक्रमण हटाने के लिए राज्
डीसी और नगर आयुक्त


रांची, 22 जुलाई (हि.स.)। रांची की प्रमुख नदी, डैमों और अन्य स्रोतों पर से अतिक्रमण हटाने के लिए राज्य सरकार सर्वे करवा रही है। सर्वे कार्य के बाद चिन्हित अतिक्रमण काे सख्ती से हटाया जायेगा। इसी क्रम में गुरुवार को नगर आयुक्त मनोज कुमार और उपायुक्त छवि रंजन ने हरमू मुक्तिधाम के समीप हरमू नदी के पास अतिक्रमण हटाए जाने को लेकर किये जा रहे सर्वे कार्य का निरीक्षण किया। नगर आयुक्त कुमार ने बताया कि किसी भी वाटर स्रोत के 15 मीटर के दायरे में निर्माण की अनुमति नहीं है, ये बिल्डिंग बायलाॅज का उल्लंघन है। ऐसे निर्माण को अवैध निर्माण के तौर पर चिन्हित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पब्लिक लाइन इनक्राॅचमेंट एक्ट के तहत अतिक्रमण के मामलों को इनिशिएट किया जायेगा और 15 मीटर के दायरे में जो भी निर्माण होंगे, उन्हें हटाया जायेगा। नगर आयुक्त ने कहा कि ये एक दो दिन का अभियान नहीं है, इंड टू इंड रिवर बेड का क्राॅस एग्जामिन किया जा रहा है। टीम उसे फाॅलोअप करेगी। हर दिन के मामले दर्ज किया जायेंगे और जो भी अनाधिकृत निर्माण किया गया उसे सख्ती के साथ हटाया जायेगा। नगर आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि रांची जिला में जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम के कार्य का लगातार फाॅलोअप लिया जा रहा है। उपायुक्त छवि रंजन ने बताया कि रांची जिला एवं शहरी क्षेत्र में जितने भी मुख्य नदी, डैम और जल स्रोत हैं, वहां सर्वे कर कुछ अतिक्रमणकारियों को भी चिन्हित भी किया गया है। इन्हें पब्लिक लाइन इनक्राॅचमेंट एक्ट के तहत हटाया भी जा रहा है। उन्होंने बताया कि सर्वे कार्य के लिए एक कमेटी भी बनायी गयी है, इसमें अपर समाहर्ता , एसडीम रांची, सभी संबंधित सीओ, टाउन प्लानर और अमीन नियुक्त किये गये हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास

 rajesh pande