फोन टेपिंग व जासूसी मामले को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन
कांग्रेस ने की पूरे मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच कराने की मांग देहरादून, 22 जुलाई (हि.स.)।
कांग्रेस ने की पूरे मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच कराने की मांग देहरादून, 22 जुलाई (हि.स.)। देश में तथाकथित फोन टेपिंग और जासूसी कांड को लेकर कांग्रेस ने आज सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया। यह प्रदर्शनकारी राजभवन की ओर कूच कर रहे थे लेकिन पुलिस ने अवरोध कर लगाकर रोक लिया। कांग्रेस पूरे मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति से कराने की मांग कर रही है। गुरुवार को उत्तराखंड कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कांग्रेस प्रमुख प्रीतम सिंह तथा महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के आह्वान पर उत्तराखंड के सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजभवन को घेरने का प्रयास किया। जिसे पुलिस ने विफल कर दिया। इस मौके पर पुलिस से कांग्रेस कार्यकर्ताओं की तीखी नोकझोंक व धक्कामुक्की भी हुई। इस पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र सरकार जिस तरह से देश में लोकतंत्र को कमजोर करने की कोशिश कर रही है, वह दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से सांसदों की निजता पर प्रहार किया जा रहा है। प्रीतम सिंह ने कहा कि हमारे नेता राहुल गांधी के साथ-साथ मीडिया कर्मियों के भी फोन टेप होना दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार के इस कृत्य की जितनी भी भर्त्सना की जाए वह कम है। प्रीतम सिंह ने कहा कि इस मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति से कराई जानी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/ साकेती

 rajesh pande