उज्जैन: जिले में कांवड यात्रा निकालने पर प्रतिबंध
उज्जैन, 22 जुलाई (हि.स.)। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर की नगरी उज्जैन में श्रावण मा
उज्जैन, 22 जुलाई (हि.स.)। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर की नगरी उज्जैन में श्रावण मास में दूर-दूर से कावड़ यात्राएं आती हैं। यहां देशभर से कांवड़िये विभिन्न नदियों से पवित्र जल लाकर भगवान महाकाल को अर्पित करते हैं, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते यहां कांवड़ यात्रा नहीं निकलेगी। कावड़ यात्रा निकालने पर जिले की राजस्व सीमा में प्रतिबंध लगा दिया गया है। इस संबंध में अपर जिला दण्डाधिकारी नरेन्द्र सूर्यवंशी द्वारा आदेश जारी किये गये हैं। अपर कलेक्टर नरेन्द्र सूर्यवंशी ने गुरुवार को बताया कि कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी आशीष सिंह के निर्देशानुसार भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत आदेश जारी कर उज्जैन जिले की राजस्व सीमाओं में श्रावण मास में निकलने वाली कांवड़ यात्रा पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया है। इसके साथ ही सभी धार्मिक आयोजनों में निर्धारित संख्या से अधिक लोगों का एकत्रित होना भी प्रतिबंधित किया गया है। धारा 144 के तहत पूर्व में जारी समस्त आदेश यथावत लागू रहेंगे। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गए हैं। इस आदेश के उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश
 rajesh pande