शेयर बाजार की गिरावट से दो दिन में डूबे 4.38 लाख करोड़ रुपये

    20-Jul-2021 19:13:47 PM
Total Views |

Market_1  H x W
 
 
 
नई दिल्ली, 20 जुलाई (हि.स.)। भारतीय शेयर बाजार में मंदड़ियों के दबाव की वजह से सिर्फ दो दिन के अंदर ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैपीटलाइजेशन में 4.38 लाख करोड़ रुपये की कमी आ गई। पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को बीएसई का कुल मार्केट कैप 234.38 लाख करोड़ रुपये था लेकिन इस सप्ताह के पहले दो दिन के कारोबार के बाद ही मार्केट कैपिटलाइजेशन घटकर 230 लाख करोड़ रुपये का रह गया।
सोमवार को कारोबार की शुरुआत होते ही जब बाजार में बिकवाली का दबाव बना तो पहले कारोबारी सत्र में ही हुई जोरदार बिकवाली के कारण बीएसई में लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैप में 1.6 लाख करोड़ रुपये की कमी हो गई। उम्मीद की जा रही थी कि सोमवार को लगे बिकवाली के झटके के अगले दिन शेयर बाजार में कुछ रिकवरी होगी लेकिन मंगलवार को भी मंदड़ियों ने बाजार पर कब्जा बनाए रखा। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने शेयर बाजार को कुछ हद तक संभालने की कोशिश की लेकिन मंदड़ियों के दबाव के सामने उनकी कुछ नहीं चली।
लगातार दो दिन तक हुई जमकर बिकवाली के कारण बीएसई के मार्केट कैप में कुल 4.38 लाखों रुपये की कमी आ गई और मार्केट कैप घटकर 230 लाखों रुपये का हो गया। इन दो दिनों के दौरान बीएसई का सेंसेक्स सोमवार को 586.66 अंक और मंगलवार को 354.89 अंक टूटकर बंद हुआ। यानी इन 2 दिनों में ही सेंसेक्स ने 941.55 अंक का गोता लगा दिया। शुक्रवार को सेंसेक्स 53,140.06 अंक के स्तर पर बंद हुआ था लेकिन इस सप्ताह दो दिन के कारोबार के बाद मंगलवार को सेंसेक्स 52,198.51 अंक के स्तर पर आकर बंद हुआ। हालांकि बाजार में बिकवाली का दबाव इस कदर था कि एक बार सेंसेक्स 52,013.51 अंक तक पहुंच गया था। मतलब सेंसेक्स में सिर्फ 2 दिनों में ही 1126.55 अंक तक की गिरावट आ गई थी।
बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी का भी ऐसा ही हाल रहा। दो दिन में ही निफ्टी 291.30 अंत टूट कर शुक्रवार के क्लोजिंग लेवल 15,923.40 अंक से फिसल कर आज 15,632.10 अंक के स्तर पर पहुंच गया।
भारतीय शेयर बाजार की गिरावट में बैंकिंग शेयरों और फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनियों के शेयरों का काफी योगदान रहा। बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर के शेयरों के अलावा मेटल सेक्टर में भी इस सप्ताह के पहले दो दिनों के दौरान जोरदार गिरावट दर्ज की गई है।
दो दिन की गिरावट के बाद अब शेयर बाजार आगे क्या रुख रहता है, इसका पता को गुरुवार के अगले कारोबारी सत्र को ही लगेगा, क्योंकि कल बकरीद होने की वजह से शेयर बाजार में कारोबार नहीं होगा। शेयर बाजार के जानकारों का मानना है कि अगर अगले दो दिनों में अंतरराष्ट्रीय परिस्थितियों में ज्यादा परिवर्तन नहीं हुआ, तो गुरुवार को शेयर बाजार सकारात्मक रुख भी ले सकता है। हालांकि शेयर बाजार की अनिश्चित चाल की वजह से कभी भी शेयर बाजार को लेकर एकदम सटीक और सही भविष्यवाणी नहीं की जा सकती, लेकिन अभी तक बाजार से जो संकेत मिल रहे हैं, उससे यही लगता है कि गुरुवार के कारोबारी सत्र में शेयर बाजार को मजबूती मिल सकती है।

हिन्दुस्थान समाचार/ योगिता