महाराष्ट्र के 5 मंत्रियों के विरुद्ध कोरोना नियमावली भंग करने की शिकायत
मुंबई, 29 नवंबर (हि.स.)। औरंगाबाद जिले में एक कार्यक्रम में कोरोना नियमावली का भंग करने पर महाविकास
महाराष्ट्र के 5 मंत्रियों के विरुद्ध कोरोना नियमावली भंग करने की शिकायत


मुंबई, 29 नवंबर (हि.स.)। औरंगाबाद जिले में एक कार्यक्रम में कोरोना नियमावली का भंग करने पर महाविकास आघाड़ी सरकार के 5 मंत्रियों के विरुद्ध शिकायत जिलाधिकारी को दी गई है। इन मंत्रियों में महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे भी शामिल हैं। इस शिकायत पर कार्रवाई के संबंध में कोई अधिकृत जानकारी जिलाधिकारी सुनील चव्हाण के कार्यालय से नहीं मिल सकी है।

जानकारी के अनुसार औरंगाबाद के एमजीएम कॉलेज में जलसंपदा विभाग की ओर रविवार को कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में जलसंपदा मंत्री जयंत पाटिल, स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे, फलोत्पादन मंत्री संदीपन भूमरे, राज्यमंत्री अब्दुल सत्तार उपस्थित थे। कार्यक्रम में किसी भी मंत्री ने मास्क नहीं लगाया था तथा कोरोना नियमावली के तहत सामाजिक दूरी का पालन नहीं कर रहे थे। जबकि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य की जनता को कोरोना नियमावली का पालन न करने वालों पर कठोर कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है। इसी वजह से औरंगाबाद जिले के बहुजन विकास आघाड़ी की ओर से सोमवार को जिलाधिकारी सुनील चव्हाण को लिखित शिकायत पत्र सौंपा गया है और इन मंत्रियों पर भी कठोर कार्रवाई करने की मांग की गई है।

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि कार्यक्रम के समय मास्क लगे रहने पर बोलने में दिक्कत होती है। इसी वजह से यहां उनसे जो गलती हुई है, भविष्य में उसकी पुनरावृत्ति न हो इसका ध्यान रखेंगे। लेकिन जिलाधिकारी कार्यालय की ओर से इस संदर्भ में किसी भी तरह की प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है।

हिन्दुस्थान समाचार/राजबहादुर


 rajesh pande