Custom Heading

जिला परिषद सदस्य ने खुद लगाया था फंदा, दम घुटने से हुई मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा
शिमला, 25 नवम्बर (हि.स.)। राजधानी शिमला के समरहिल कस्बे से सटे सांगटी में जिला परिषद सदस्य कविता कां
जिला परिषद सदस्य ने खुद लगाया था फंदा, दम घुटने से हुई मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा


शिमला, 25 नवम्बर (हि.स.)। राजधानी शिमला के समरहिल कस्बे से सटे सांगटी में जिला परिषद सदस्य कविता कांटू की आत्महत्या मामले की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट के अनुसार कविता की मौत दम घुटने से हुई है। उसने जो फंदा लगाया था उससे दम घुटा जिससे उसकी मौत हुई।

रिपोर्ट में कहा गया है कि फंदा जिंदा रहते लगाया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने मारने के बाद फंदे पर लटकाने की आशंकाओं पर विराम लगा दिया है। पुलिस ने अभी इस मामले की जांच बंद नहीं की है। पुलिस अभी एफएसएल और हैंड राइटिंग एक्सपर्ट की रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है। रिपोर्ट में यदि कुछ सामने आता है तो पुलिस आत्महत्या की धारा को बदल कर दूसरे एंगल पर जांच शुरू करेगी।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से यह लगभत तय हो गया है कि यह आत्महत्या का ही थी। शव के शरीर पर मारपीट का कोई निशान नहीं है। गर्दन की हड्डी टूटी हुई थी, यह वी शेप में है। इसके मुंह से लार निकल रही थी और जीभ कटी हुई थी। विशेषज्ञों के मुताबिक आत्महत्या के दौरान ही इस तरह की शेप बनती है, यदि किसी ने मार कर लटकाया हो तो गर्दन की इस तरह की शेप नहीं बनती। पुलिस अधीक्षक शिमला डॉ. मोनिका ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट के अनुसार फंदा लगाने की वजह से मौत हुई है। अभी एफएसएल की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उसके बाद ही इस पर कुछ कहा जा सकता है।

बता दें कि पुलिस को कविता के कमरे से एक चिट भी मिली थी। इस पर लिखा था सॉरी टू एवरी वन, लव यू डैड। पुलिस ने इस चिट को हैंड राइटिंग एक्सपर्ट को भेजा है। इसमें देखा जाएगा कि क्या यह हैंडराइटिंग इसी की थी या किसी और की तो नहीं है।

बीते मंगलवार को समरहिल के सांगटी क्षेत्र में युवति की आत्महत्या का मामला सामने आया था। 26 वर्षिय कविता का शव घर के साथ लगते जंगल में एक पेड़ से लटका हुआ मिला। पेड़ पर जिस तरह से लाश लटकी मिली उससे यह मामला संदिग्ध बना हुआ था। अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से काफी चीजें क्लीयर हो गई है। मृतका रामपुर के तहत पड़ने वाली कुहल पंचायत के मझाली गांव की रहने वाली हैं। इसने हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से इतिहास विषय में एमफिल किया है। यूजीसी की नेट परीक्षा भी उत्तीर्ण की थी।

हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील


 rajesh pande