Custom Heading

वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोगों की अमेरिका में आठ नवंबर से इंट्री
कोरोना महामारी के बाद से विश्व के कई देशों ने विदेश से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध लगाए हैं लेकिन कोविड केसों की संख्या घटने के बाद इन प्रतिबंधों में कोविड प्रोटोकॉल के साथ ढील दी जा रही है।

 
वैक्सीन की दोनों डोज ले च

 
वाशिंगटन, 16 अक्टूबर (हि.स.)। कोरोना महामारी के बाद से विश्व के कई देशों ने विदेश से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध लगाए हैं लेकिन कोविड केसों की संख्या घटने के बाद इन प्रतिबंधों में कोविड प्रोटोकॉल के साथ ढील दी जा रही है। इस कड़ी में अमेरिका ने इंटरनेशनल ट्रैवल पॉलिसी में बदलाव करते हुए 8 नवंबर से कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों को अपने देश आने की इजाजत दी है।

अमेरिका ने शुक्रवार को विदेश से आने वाले यात्रियों को लेकर नए इंटरनेशनल ट्रैवल पॉलिसी की घोषणा की है, जिसके तहत केवल पूरी तरह से कोरोना का टीका लगा चुके लोगों को ही अमेरिका में 8 नवंबर से एंट्री मिलेगी। पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना महामारी की शुरुआत में विदेशी यात्रियों को अमेरिका में प्रवेश करने से रोक लगाई थी। अब राष्ट्रपति बाइडन की नई नीति से भारत जैसे देश के लोगों को यात्रा संबंधी पाबंदी से राहत मिल गई है।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव केविन मुनोज ने कहा कि यह नियम अंतरराष्ट्रीय हवाई और सड़क यात्रा दोनों पर लागू रहेगा। विदेशी यात्री जो पूरी तरह से कोरोना के दोनों टीके लगा चुके हैं, वे 8 नवंबर से अमेरिका की यात्रा कर सकेंगे।

विदेशी नागरिकों को बोर्डिंग के वक्त टीकाकरण का प्रूफ देना होगा। इसके अलावा फ्लाइट के तीन दिन के अंदर कोरोना निगेटिव रिपोर्ट भी प्रस्तुत करनी होगी। बाइडन प्रशासन के कोरोना कोऑर्डिनेटर जेफ जिएंट्स ने कहा कि पूरी तरह से वैक्सीनेटेड लोगों को क्वारंटाइन नहीं होना पड़ेगा।

हिन्दुस्थान समाचार/अजीत तिवारी


 rajesh pande