Custom Heading

जींद: अलमारी तोड़ कर 75 तोले सोना चोरी
जींद, 16 अक्टूबर (हि.स.)। सफीदों के गांव बहादुरपुर में शुक्रवार रात चोरों ने एक घर में सेंध लगा 75 त
 वह अलमारी जिससे सोना चुराया गया।


जींद, 16 अक्टूबर (हि.स.)। सफीदों के गांव बहादुरपुर में शुक्रवार रात चोरों ने एक घर में सेंध लगा 75 तोले सोने के गहनों को चोरी कर लिया। चोरी की सूचना मिलने पर सदर थाना सफीदों प्रभारी कृष्ण कुमार मौके पर पहुंचे तथा घटनास्थल का जायजा लिया। इसके उपरांत मौके पर एफएसएल टीम को भी बुला साक्ष्यों को जुटाया गया। चोरों ने इस वारदात के अलावा दो अन्य घरों में भी सेंध लगाई है।

मकान मालिक जगपाल सिंह ने बताया कि वह रात को अपना घर ठीक-ठाक बंद करके सो गए थे। रात को उनकी कई बार आंखें खुली। रात को करीब तीन बजे उनके पिता बाथरूम करने के लिए बाहर निकले तो उन्होंने देखा कि घर के पिछले कमरे की ग्रिल उखड़ी हुई है। कुछ शक होने पर उन्होंने परिवार वालों को उठाया। परिवार के लोग उस कमरे में जाने लगे तो पाया कि कमरा अंदर से बंद किया हुआ था। परिवार दूसरे रास्ते से कमरे में पहुंचे तो पाया कि कमरे के साथ लगते स्टोर में रखी अलमारी का लॉकर टूटा हुआ था। चोर उस लॉकर को तोड़कर करीब 75 तोले सोने के गहने चोरी कर ले गए हैं। उनकी अलमारी में तीन लॉक लगे हुए थे और इन तीन लॉक के भीतर उनका 75 तोले सोने के गहने रखे हुए थे। सुबह गांव के लोगों को इस मामले की जानकारी लगी तो मौके पर काफी तादाद में लोग जगपाल सिंह के मकान पर जमा हो गए। हर कोई इस घटना को जान कर सहमा हुआ था। मौके पर सफीदों सदर थाना पहुंची तथा सीन ऑफ क्राइम की टीम ने भी मौके का दौरा किया। वहीं रात को ही गांव में डेरा बलवंत सिंह पर भी चोरों ने इसी प्रकार से दस्तक दी लेकिन वे वहां से कुछ चुरा पाने में असफल रहे क्योंकि शोर के कारण घर के लोग जाग गए थे। इसके साथ रात को ही चोरों ने गांव बहादुुुुुरपुर के साथ लगते गांव कालरखेड़ा के राममेहर के मकान में भ्भी सेंध लगाई। चोरों ने खिड़की की जाली तोड़कर राममेहर के घर में प्रवेश किया और वहां से जेवर, कपड़े व 1500 रुपये चुराकर ले गए। सदर थाना प्रभारी कृष्ण कुमार ने बताया कि सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। पुलिस ने घटनास्थल से साक्ष्यों को जुटाया है। फिलहाल चोरी का मामला दर्ज कर लिया गया है। शीघ्र ही चोरी की वारदातों को सुलझा लिया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ विजेंद्र/संजीव


 rajesh pande