Custom Heading

शासन के समक्ष रखा जाएगा पुरानी पेंशन बहाली का प्रस्ताव : डा. आरसी यादव
— 26 वर्षों की सेवा पूर्ण करने के बाद 10 हजार रुपये रखा जाएगा ग्रेड कानपुर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। नवनि
शासन के समक्ष रखा जाएगा पुरानी पेंशन बहाली का प्रस्ताव : डा. आरसी यादव


शासन के समक्ष रखा जाएगा पुरानी पेंशन बहाली का प्रस्ताव : डा. आरसी यादव


— 26 वर्षों की सेवा पूर्ण करने के बाद 10 हजार रुपये रखा जाएगा ग्रेड

कानपुर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। नवनियुक्त चिकित्सकों के लिए पेंशन की व्यवस्था नहीं है और इनको भी पेंशन मिले। इसके लिए पुरानी पेंशन बहाली का प्रस्ताव पास किया जाएगा और शासन के समक्ष भी रखा जाएगा। इसके साथ ही 26 वर्षों की सेवा पूर्ण कर चुके चिकित्सकों का वेतन ग्रेड बढ़कर 10 हजार रुपये करने का प्रस्ताव भी शासन को भेजा जाएगा। यह बातें शनिवार को प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ कानपुर इकाई के नव निर्वाचित अध्यक्ष डा. आरसी यादव ने कही।

प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ कानपुर नगर की नवनिर्वाचित कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह शनिवार को जिला अस्पताल उर्सला के सभागार में आयोजित हुआ। मुख्य अतिथि प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ की केंद्रीय कार्यकारिणी के अध्यक्ष डॉक्टर सचिन वैश्य ने बताया कि कानपुर शाखा में नवनिर्वाचित अध्यक्ष डॉक्टर आरसी यादव, सचिव डॉक्टर यशोवर्धन सिंह, उपाध्यक्ष प्रथम राजेश कुमार वर्मा, उपाध्यक्ष द्वितीय डॉ अनुराग राजोरिया, महिला उपाध्यक्ष डॉ अर्पिता बाजपेई, वित्त सचिव डॉ मनीष कुमार यादव, डॉ नीलेश कुमार तथा सदस्य केंद्रीय कार्यालय डॉक्टर सुबोध सिंह को उनके पद की शपथ दिलाई गई।

केंद्रीय कार्यकारिणी के अध्यक्ष डॉक्टर सचिन वैश्य ने कहा कि विगत वर्ष में विभिन्न जिलों में समीक्षा बैठकों के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा हमारे वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों के साथ हुए दुर्व्यवहार किया गया। इस पर उन्होंने रोष प्रकट किया तथा कानपुर शाखा के साथ मिलकर निंदा की और पुनरावृति को रोकने के लिए सशक्त कदम उठाने का आह्वान किया।

डाक्टरों की सुरक्षा रहेगा अहम बिन्दु

अध्यक्ष आरसी यादव ने कहा कि नवनियुक्त चिकित्सकों के लिए पुरानी पेंशन स्कीम बहाली का प्रस्ताव शासन के समक्ष रखा जाएगा। साथ ही चिकित्सकों के 26 वर्षों की सेवा पूर्ण करने के उपरांत वेतन ग्रेड बढ़कर 10,000 करने का प्रस्ताव भी शासन को भेजा भी जाएगा।

सचिव डा. यशोवर्धन सिंह ने कहा कि अक्सर देखा जाता है कि दिन रात मेहनत कर डाक्टर मरीजों को बेहतर चिकित्सीय परामर्श देते हैं, इसके बावजूद उन्हे बेइज्जत किया जाता है। पीएमएस इस पर गहनता से विचार कर रहा है और डाक्टरों की सुरक्षा अहम बिन्दु रहेगा।

डा. कीर्तिवर्धन सिंह ने कहा कि डाक्टरों की एकता पर तमाम तरह के प्रयास किये जाते हैं, लेकिन एकता को बरकरार रखना प्राथमिकता होगी। डा. सुनीता गौतम ने कहा कि पीएमएस सदैव डाक्टरों के साथ खड़ा रहने वाला संगठन है और आगे भी किसी भी प्रकार के पीड़ित डाक्टरों को संगठन हर संभव मदद करेगा।

कार्यकारिणी में यह डाक्टर जगह बनाने में रहे सफल

शपथ के बाद अध्यक्ष डॉक्टर आरसी यादव ने अपनी कार्यकारिणी का विस्तार किया। जिन्होंने डॉक्टर संगम सचान, डॉ सुनीता गौतम, डॉक्टर रेखा सिंह, डॉक्टर कीर्ति वर्धन सिंह, डॉक्टर मुन्ना लाल विश्वकर्मा, डॉक्टर सपन गुप्ता, डॉक्टर विनय कटियार, डॉक्टर नीरज सचान, डॉ रमेश कुमार, डॉ एस के मिश्रा डॉक्टर पूनम गुप्ता, डॉक्टर अस्फिया, डॉक्टर अरविंद भूषण, डॉ धर्मेंद्र राजपूत सभी चिकित्सा अधीक्षक को स्थानी कार्यकारिणी में सम्मिलित किया गया।

यह रहे मौजूद

मुख्य अतिथि प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ की केंद्रीय कार्यकारिणी के अध्यक्ष डॉक्टर सचिन वैश्य, सचिव डॉ अमित सिंह, उपाध्यक्ष डा. विनय कुमार सिंह, कानपुर मंडल के अपर निदेशक डॉ जीके मिश्रा, उर्सला अस्पताल की निदेशक डा. किरन सचान, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नेपाल सिंह की उपस्थिति में शपथ ग्रहण समारोह संपन्न हुआ। समारोह का संचालन डॉक्टर जीके मिश्रा, डॉक्टर मुन्ना लाल विश्वकर्मा, डॉक्टर सुनीता गौतम द्वारा किया गया तथा समापन कोविड-19 में सभी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित कर किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार/महमूद/मोहित


 rajesh pande