Custom Heading

पांचवां दीपोत्सव विश्व के लिए होगा आकर्षण का केन्द्र बिन्दु
सभी विभाग समन्वय के साथ सौंपे गये कार्यो को समय के साथ पूरा करें ऽ मण्डलायुक्त ने दीपोत्सव तैयारियों
पांचवां दीपोत्सव विश्व के लिए होगा आकर्षण का केन्द्र बिन्दु


सभी विभाग समन्वय के साथ सौंपे गये कार्यो को समय के साथ पूरा करें

ऽ मण्डलायुक्त ने दीपोत्सव तैयारियों की किया समीक्षा

अयोध्या, 13 अक्टूबर (हि. स.)। मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल की अध्यक्षता में आयुक्त सभागार में दीपोत्सव 2021 की तैयारी बैठक की बुधवार को समीक्षा की। मण्डलायुक्त ने 1 नवम्बर से 6 नवम्बर 2021 तक आयोजित होने वाले भव्य दीपोत्सव की तैयारियों के सम्बंध में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा से अब तक की गयी तैयारी की बिन्दुवार जानकारी प्राप्त की। तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी द्वारा भव्य दीपोत्सव का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया गया।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस बार दीपोत्सव में 7.50 लाख दीपक जलाये जाने का प्रस्ताव है, दीपोत्सव की व्यवस्था माटी कला बोर्ड के माध्यम से करायी जा रही है, इस कार्य की जिम्मेदारी डा0 राम मनोहर लोहिया अवध विवि को सौंपी गयी है। दीपक को जलाने हेतु अवध विवि के द्वारा अपने विश्वविद्यालय के तथा इंटर कालेज के 12 हजार वालन्टियर्स को लगाया गया है।

सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों पर जलाये जायेंगे दीपक

अयोध्या के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों पर दीपक जलाये जायेंगे। दीपोत्सव में मुख्य रूप से पर्यटन, संस्कृति, सूचना, राम मनोहर लोहिया विश्वविद्यालय, विकास, राजस्व, उद्यान, नगर निगम, विकास प्राधिकरण आदि विभागों के लगभग 27 प्रकार के दायित्व दिये गये हैं और कहा गया है कि सभी विभाग बेहतर समन्वय के साथ दीपोत्सव की तैयारी करें।

सूचना विभाग द्वारा दीपोत्सव के सम्पूर्ण कार्यक्रम का दूरदर्शन एवं अन्य प्रचार साधनों द्वारा सजीव प्रसारण किया जायेगा। मेरे द्वारा सितम्बर के प्रथम सप्ताह में ही शासन के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखा जा चुका है और सम्बंधित विभाग भी पत्राचार की कार्यवाही कर रहे है।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस बार दीपोत्सव कार्यक्रम 6 दिवसीय होगा। मुख्य कार्यक्रम 3 सितम्बर को रामकथा पार्क एवं राम की पैड़ी पर आयोजित होंगे। 2 व 3 नवम्बर 2021 को 3 विदेशी रामलीला दल लंका, नेपाल एवं त्रिनीडाड एण्ड टुवैगो दलों द्वारा रामायण के विभिन्न प्रसंगों पर अपनी आकर्षण प्रस्तुति प्रस्तुत करेंगे। भजन संध्या स्थल पर रामलीला का मंचन कराने के निर्देश संस्कृति विभाग को दे दिये गये है। उपरोक्त के अतिरिक्त संस्कृति विभाग के कलाकारों द्वारा अयोध्या के प्रमुख 11 स्थानों भरतकुण्ड, नाका हनुमानगढ़ी, बड़ी देवकाली, साहबगंज रामजानकी मंदिर, जालपा मंदिर, साकेत डिग्री कालेज, बिरला धर्मशाला, राज सदन, कनक भवन, तुलसी उद्यान व गुप्तारघाट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति भी की जायेगी।

रामायण कालीन 11 झांकियां रहेंगी आकर्षण का केन्द्र

सूचना विभाग द्वारा निकाली जाने वाली शोभायात्रा में रामायण कालीन 11 झांकियां आकर्षण का केन्द्र बिन्दु रहेगी। झांकियों पर रामायण के विभिन्न प्रसंगों के सजीव पात्र जहां अपनी कलाओं से उस समय की घटनाओं को उकेरेंगे, वही झाकियों के साथ चल रहे कलाकार भी अपनी आकर्षण प्रस्तुति से लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेंगे तथा लोगों का मन मोह लेंगे। कुल मिलाकर लगभग 500 से 600 कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी जायेगी तथा अयोध्या के प्रमुख मठ मंदिरों में सूचना विभाग के सांस्कृतिक दलों द्वारा कार्यक्रम कराया जायेगा। उपरोक्त के अतिरिक्त भगवान श्रीराम, माता सीता तथा लक्ष्मण जी के स्वरूप की लंका से वापसी के वर्णन को साक्षात बनाने के लिए नये घाट पर निर्मित हेलीपैड पर पुष्पक विमान उतारने की व्यवस्था के साथ अनुज, भरत एवं शत्रुहन सहित अयोध्या वासियों द्वारा की गयी मार्मिक व भव्य अगवानी के मनोहर दृश्यों के साथ भगवान श्रीराम के राजतिलक के दिव्य दृश्य की प्रस्तुतिकरण पर्यटन एवं संस्कृति विभाग द्वारा किया जायेगा। अयोध्या के प्रमुख चौराहों स्थलों, धार्मिक स्थानों पर सूचना विभाग 35 एलईडी बैन व 20 एलईडी डिस्प्ले बोर्ड के माध्यम से सम्पूर्ण कार्यक्रम का लाइव प्रसारण किया जायेगा, जिसे दूरदर्शन पर भी देखा जा सकता है तथा सूचना विभाग द्वारा शासकीय योजनाओं से सम्बंधित बड़ी संख्या में होर्डिंग्स, कटआउट स्टैण्डी आदि जुड़वा शहर में लगवाये जायेंगे।

पर्यटन विभाग द्वारा सभी मार्गो पर लाइट गेट लगाये जायेंगे तथा झालरो व अन्य विद्युत सजावटी सामाग्रियों से पूरी अयोध्या को भव्य रूप देते हुये सजाया जायेगा। जिला पंचायत अधिकारी द्वारा भी अयोध्या के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी सफाई करायी जा रही है। पुलिस विभाग द्वारा पूरे कार्यक्रम के दौरान व्यापक सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम किये गये हैं, जिसकी मानीटरिंग स्वयं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री शैलेश कुमार पांडेय द्वारा किया जा रहा है। अयोध्या आने जाने वाले हर व्यक्तियों पर कड़ी निगरानी की जा रही है तथा कार्यक्रम के पूर्व सभी मार्गो पर बैरीकेट लगाकर आने जाने वाले वाहनों की व्यापक चेकिंग करायी जायेगी। व्यापक सुरक्षा व्यवस्था हेतु अन्य जनपदों से भी पुलिस अधिकारियों की तैनाती की मांग शासन से की गयी है।

नगर आयुक्त नगर निगम विशाल सिंह ने कहा कि नगर निगम द्वारा बेहतर सफाई व्यवस्था करायी जा रही है। बैठक में सम्बंधित विभागों के अधिकारी एवं कार्यदायी संस्था उपस्थित थे।

हिन्दुस्थान समाचार / पवन


 rajesh pande