Custom Heading

अनूपपुर: जनजातीय विवि की छात्रा ने प्रोफेसर पर लगाया दुष्कर्म का आरोप
अनूपपुर, 13 अक्टूबर (हि.स.)। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक सुर्खियों में है,
फाईल फोटो


अनूपपुर, 13 अक्टूबर (हि.स.)। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक सुर्खियों में है, जहां पर 25 सितम्बर को पं. दीनदयाल उपाध्याय के जयंती पर आयोजित ऑनलाईन व्याख्यान में अश्लील वीडियो के चलने का मामला ठंडा भी नहीं हुआ था कि विश्वविद्यालय में पीएचडी की छात्रा से प्रोफेसर द्वारा शादी की झांसा देकर जबरन कई बार शारीरिक संबंध बनाए जाने का मामला सामने आया है। जिसकी शिकायत छात्रा द्वारा 11 बिन्दुओं में महिला थाना शहडोल में दर्ज कराई है। लेकिन एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी अब तक इस मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नही की गई।

यह है मामला

इंगांराजवि अमरकंटक में अध्ययनरत पीएचडी की छात्रा ने शिकायत में बताया कि मार्च 2020 में जब कोरोना महामारी को लेकर लॉकडाउन शुरू हुआ तब मेरे ही कॉलेज के प्रोफेसर राकेश सिंह मेरे कमरें में आए और सामान्य बातचीत करते हुए मेरे साथ मेरी इच्छा के विरूद्ध मेरे साथ दुष्कर्म किए, जहां मेरे विरोध किया गया तो उन्होने मुझे अपनी पत्नी बनाकर रखने की बात कही गई।

छात्रा ने बताया कि मैं पूर्व में शादीशुदा होने की बात बताए जाने के बाद भी प्रो. राकेश सिंह द्वारा मुझसे जबरन शरीरिक संबंध बनाया गया, जिसके बाद मैने पूरी घटना अपने पति को बताई, जहां पति द्वारा मेरे साथ लड़ाई झगड़ा करने लगा और उन्होने मुझे अनूपपुर न्यायालय में तलाक दे दिया। उसके बाद से प्रो. राकेश सिंह मेरे रूम में आने लगे तथा मेरी इच्छा के विरूद्ध शारीरिक संबंध बनाने लगे और मुझे अपनी पत्नी बनाए जाने का आश्वासन देने लगे।

अमरकंटक होटल में भी किया दुष्कर्म

छात्रा ने श्किायत में बताया कि 25 सितम्बर को प्रोफेसर राकेश सिंह द्वारा मुझे जबरन शहडोल से अमरकंटक ले गए तथा अमरकंटक के होटल महेन्द्र में कमरे लेकर रोका गया, जिस पर उनकी आईडी व मेरा नाम भी होटल के रजिस्टर में दर्ज है और वहां भी उन्होने मेरे साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाया और बाद में मुझे लेकर अपने कमरे ले गए, जहां पर कॉलेज के कई प्रोफेसर थे, जहां उन्होंने सबके सामने मुझे अपनी पत्नी का दर्जा देने की कही थी।

प्रोफेसर के 6 मोबाइल नंबरों का खोला राज

छात्रा ने बताया कि मेरी इच्छा के विरूद्ध मेरे साथ जबरन शरीरिक संबंध बनाए जाने व शादी की बात करने पर उनके द्वारा इंकार कर धमकी दिया जाने लगा। जिस पर छात्रा ने प्रोफेसर राकेश सिंह के 6 मोबाइल नंबरों जिनमें 9407343427, 8815702722, 6394126207, 8889042710 , 8840107255 एवं 9415268276 से लगातार बात किए जाने एवं वाट्सएप पर मैसेज करने की बात कही गई।

इस सम्बध से प्रो. राकेश सिंह प्रतिक्रिया जाननी चाही तो फोन नहीं उठा।

हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला


 rajesh pande