Custom Heading

खेल विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की फाउंडेशन ने की शीघ्र जांच की मांग
इटानगर, 13 अक्टूबर (हि.स.)। अरुणाचल प्रदेश में तीरांदाज सोरांग योमी के लिए न्याय की मांग और राज्य खे
खेल विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की फाउंडेशन ने की शीघ्र जांच की मांग


इटानगर, 13 अक्टूबर (हि.स.)। अरुणाचल प्रदेश में तीरांदाज सोरांग योमी के लिए न्याय की मांग और राज्य खेल विभाग में भ्रष्ट्रचार का आरोप लगते हुए बुधवार को भ्रष्ट्रचार विरोधी फाउंडेशन ने अपना दूसरा विरोध रैली राजधानी इटानगर में आयोजित किया।

विरोध रैली आज सुबह राजधानी इटानगर के गंगा बाजार से इंदिरा गांधी पार्क तक आयोजित की गयी। जिसमें काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लेते हुए सरकार से राज्य के विशेष जांच दल और विशेष जांच सेल (एसआईसी) में खेल में हुए भ्रष्टाचार के मामले को दर्ज कर शीघ्र इसकी जांच कराने की मांग की।

इस अवसर पर मीडिया को संबोधित करते हुए भ्रष्ट्रचार विरोधी फाउंडेशन के अध्यक्ष ताई ताहर ने कहा कि इस मामले पर यह हमारी दूसरी रैली है। इस मामले पर कुछ महीनों पहले तीरांदाज योमी ने एसआईटी और एसआईसी से शिकायत किया था, लेकिन आज तक मामले में कोई केस दर्ज नहीं किया गया और न ही जांच शुरू की गयी। उन्होंने बताया कि राज्य के खेल मंत्री मामा नातुंग ने तो स्वीकार किया है कि विभाग से गलतियां हुई हैं, मगर आज तक कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

योमी द्वारा इस मुद्दे पर विरोध करने पर उन्हें नौकरी का प्रस्ताव देकर विभाग ने यह साबित कर दिया कि गलती हुई है। इसलिए ताहर ने राज्य सरकार से मांग किया है कि मामले की शीघ्र ही विशेष जांच दल से जांच कराये।

गत सात सितम्बर को तीरांदाज सोरांग युमी ने आरोप लगाया था कि राज्य खेल विभाग के निदेशक तादार आपा ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अपने रिस्तेदारों जो युमी से जूनियर हैं को तीरांदाज कोच के लिए नियुक्त किया है। युमी ने विभाग पर भ्रष्ट्रचार का आरोप लगते हुए अपने सभी 22 अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय पदक तथा प्रमाण पत्र को वापस करते हुए विभाग द्वारा प्रस्तावित नौकरी को भी ठुकरा दिया था।

हिन्दुस्थान समाचार /तागू/ अरविंद


 rajesh pande