Custom Heading

कटारिया के पदचिह्नों पर चलकर मिसाल खड़ी करेंगे कार्यकर्ता — पूनियां
उदयपुर, 13 अक्टूबर (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक
कटारिया के पदचिह्नों पर चलकर मिसाल खड़ी करेंगे कार्यकर्ता — पूनियां


कटारिया के पदचिह्नों पर चलकर मिसाल खड़ी करेंगे कार्यकर्ता — पूनियां


कटारिया के पदचिह्नों पर चलकर मिसाल खड़ी करेंगे कार्यकर्ता — पूनियां


कटारिया के पदचिह्नों पर चलकर मिसाल खड़ी करेंगे कार्यकर्ता — पूनियां


कटारिया के पदचिह्नों पर चलकर मिसाल खड़ी करेंगे कार्यकर्ता — पूनियां


उदयपुर, 13 अक्टूबर (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के 78वें जन्मदिवस पर बुधवार को भाजपा शहर जिला उदयपुर की ओर से नगर निगम स्थित मोहनलाल सुखाड़िया रंगमंच पर उनका अभिनंदन समारोह आयोजित किया गया।

इस अवसर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने कहा कि कोई पदचिह्नों पर चलता है और कोई पदचिह्न बनाता है, कटारिया ने अपने 42 साल के राजनीतिक जीवन में नई पीढ़ी के लिए पदचिह्न बनाए हैं। उन्होंने हजारों कार्यकर्ताओं का निर्माण किया। उन्हें भरोसा है कि नई पीढ़ी कटारिया के पदचिह्नों पर चलकर मिसाल खड़ी करेगी।

मंच पर भाजपा शहर जिलाध्यक्ष रवीन्द्र श्रीमाली उदयपुर शहर प्रभारी, बांसवाड़ा सांसद कनक मल कटारा, उदयपुर सांसद अर्जुन लाल मीणा, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूल सिंह मीणा, बड़ीसादड़ी विधायक ललित ओस्तवाल, उदयपुर महापौर गोविंद सिंह टाक, उपमहापौर पारस सिंघवी, शहर जिला महामंत्री डॉ. किरण जैन, गजपाल सिंह राठौड़, मनोज मेघवाल, बृजेंद्र भंडारी उपस्थित थे।

प्रारंभ में भाजपा शहर जिला उदयपुर की ओर से मुख्य अतिथि पूनियां का पगड़ी पहनाकर तथा उपरणा ओढ़ाकर सम्मान किया गया। उन्हें स्मृति चिह्न भी भेंट किया गया। भाजपा के वरिष्ठ हीरालाल कटारिया, कुंतीलाल जैन, रजनी डांगी ने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का पगड़ी—उपरणा व स्मृति चिह्न भेंटकर अभिनंदन किया। कार्यक्रम संयोजक पूर्व युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष एवं भाजपा जिला मंत्री गजेंद्र भंडारी ने कटारिया का स्वागत किया।

प्रारंभ में स्वागत उद्बोधन देते हुए जिलाध्यक्ष रविंद्र श्रीमाली ने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के जीवन पर अपने विचार रखते हुए कहा कि वह सेवा को समर्पित व्यक्तित्व हैं जिनसे कार्यकर्ता प्रेरणा लेते हैं।

कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने अपने उद्बोधन में सर्वप्रथम एकलिंग नाथ एवं महाराणा प्रताप का जयघोष किया। उन्होंने कहा कि हमारी राजनीति की यात्रा कोई सत्ता प्राप्ति का लक्ष्य लेकर प्रारंभ नहीं हुई थी, अपितु जन-जन में राष्ट्रवाद की भावना को प्रज्वलित करने, देश में सुशासन देने के विचार को लेकर हमारे वरिष्ठ मार्गदर्शक ने इस यात्रा को प्रारंभ किया। जिन लोगों ने प्रारंभ में इस राष्ट्रीय कार्य को लक्ष्य बनाकर कार्य प्रारंभ किया तब उन्होंने न भूख की, न साधन की, न रहने की चिंता की। उनका एक ही लक्ष्य था, राष्ट्रीय कार्य के लिए उनके जीवन को प्रत्यक्ष रूप से लगाना है और आमजन को इस कार्य में जुड़ने के लिए प्रेरित करना है। यह सब व्यवस्था उन्होंने अपनी आंखों से देखी और विचार किया कि राष्ट्र कार्य में अपने जीवन को समर्पित करना ही श्रेष्ठ है।

उन्होंने सुंदरसिंह भंडारी का स्मरण करते हुए कहा कि इतने बड़े अधिकारी होते हुए यदि 5 मिनट रेल जल्दी आ जाती और कोई लेने वाला नहीं जा पाता तो वे ऑटो करके घर चले जाते और किसी प्रकार से कोई नाराजगी व्यक्त नहीं करते थे। उन्हीं के जीवन से प्रेरणा लेकर उन्होंने भी इस यात्रा को प्रारंभ किया। उन्होंने स्वर्गीय भानुकुमारी शास्त्री, स्व. मदनलाल धुप्पड़, किशन सालवी आदि का नाम लेते हुए कहा कि वे शुचिता के सशक्त हस्ताक्षर थे। उन्होंने कहा कर्म हमें करना है, सफलता देने वाला ईश्वर बैठा है। हम मां भारती की सेवा के लिए संकल्पित होकर राजनीति में काम करने के लिए निकले हैं, हमने संघर्ष के दिन देखे हैं। जब भानुजी चुनाव हार गए तब कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने डंडों पर निकर लगा कर हाय—हाय के नारे लगाए, हमने ऐसा कटु अनुभव पी लिया। उन्होंने कार्यकर्ताओं से यह संकल्प लेने का आह्वान किया कि मां भारती की रक्षा के लिए हमारी विचारधारा के लिए और हमारी पार्टी को विश्व गुरु बनाने के लिए हम अपना सर्वस्व लगाने में कभी पीछे नहीं हटेंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/सुनीता कौशल/ ईश्वर


 rajesh pande