Custom Heading

धमतरी : धान खरीदी के लिए नए किसानों का हो रहा पंजीयन
खरीफ फसल की खरीदी के लिए चल रही तैयारी धमतरी, 11 अक्टूबर (हि.स.)। धमतरी जिले में आगामी खरीफ फसल के
धमतरी : धान खरीदी के लिए नए किसानों का हो रहा पंजीयन


खरीफ फसल की खरीदी के लिए चल रही तैयारी

धमतरी, 11 अक्टूबर (हि.स.)। धमतरी जिले में आगामी खरीफ फसल के लिए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए तैयारी शुरू हो गई है। इन दिनों नए किसानों का पंजीयन कृषि विस्तार अधिकारियों के पास किया जा रहा है। वहीं कोदो व कुटकी समेत नई फसल लेने वाले किसान भी पंजीयन करा रहे हैं। रकबा में बदलाव भी किया जा रहा है। पुराने किसानों को पंजीयन की जरूरत नहीं है। सोसाइटियों में किसानों की भीड़ लग रही है।

जिले में इस साल एक लाख 35 हजार हेक्टेयर क्षेत्र पर किसानों ने खरीफ सीजन में धान फसल लगाया है, जो लगभग तैयार है। अधिकांश किसानों के खेतों में लगी अर्ली वेरायटी की धान फसल पककर तैयार है। कुछ किसानों तो कटाई भी शुरू कर दी है। इसे देखते हुए जिले में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की तैयारियां शुरू हो गई है। खाद्य निरीक्षक नरेश पिपरे ने बताया कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए नए किसानों का पंजीयन शुरू हो गया है। किसान अपने क्षेत्र के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों के पास जमीन के दस्तावेज जमा कर पंजीयन करा रहे हैं। वहीं कोदो-कुटकी समेत अन्य फसल लेने वाले किसान भी पंजीयन करा रहे हैं। कृषि विस्तार अधिकारी सत्यापन के बाद इन किसानों के दस्तावेज को पोर्टल पर अपलोड करेंगे। साथ ही सोसायटियों में इसकी पूरी जानकारी कृषि विस्तार अधिकारी देंगे। इस जानकारी सोसायटियां अपडेट करेंगी। वहीं कुछ किसान अपने रकबा में भी परिवर्तन कराकर पंजीयन करा रहे हैं। पहले से पंजीकृत पुराने किसानों का पंजीयन नहीं होगा। शासन स्तर से स्वमेव पंजीयन हो जाएगा। पिछले साल जिले में समर्थन मूल्य पर धान बिक्री के लिए एक लाख 11 हजार से अधिक किसानों का पंजीयन हुआ था।

खरीदी के लिए कोई आदेश नहीं

समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी कब से शुरू की जाएगी, इसके संबंध में शासन से अब तक कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। वहीं जिले में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिए शासन से कोई लक्ष्य प्राप्त नहीं हुआ है। पिछले साल जिले के 89 उपार्जन केन्द्रों में 42 लाख 77495 क्विंटल धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर की गई थी। उल्लेखनीय है कि जिलेभर के ज्यादातर किसानों की धान फसल में बालियां निकल आई है। बोर सिंचाई सुविधा वाले किसानों की धान फसल पककर तैयार है।

हिन्दुस्थान समाचार/ रोशन सिन्हा


 rajesh pande