Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, जुलाई 22, 2018 | समय 21:42 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

विहिप ने की चर्च संचालित संस्थाओं की जांच की मांग

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 11 2018 7:18PM
विहिप ने की चर्च संचालित संस्थाओं की जांच की मांग

नई दिल्ली, 11 जुलाई (हि.स.)। विश्व हिन्दू परिषद् ने चर्च के मिशनरी ऑफ़ चैरिटी द्वारा संचालित झारखण्ड के बाल आश्रम में बच्चों के व्यापार व शोषण और केरल में ननों के यौन शोषण का मुद्दा उठाते हुए केन्द्र सरकार से कार्रवाई की मांग की है।

विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन ने कहा कि मदर टेरेसा द्वारा स्थापित रांची स्थित ‘निर्मल हृदय आश्रम’ में किए जा रहे यौनाचार, बच्चों के व्यापार व अन्य अवैध कार्यों का पर्दाफाश मानवता को शर्मसार करने वाला है। ‘आश्रम’ में अनाथ लड़कियों से दुष्कर्म कर उनके बच्चों को बेच दिया जाता था।

उन्होंने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद् को आशंका है कि मदर टेरेसा द्वारा स्थापित अन्य तथाकथित ‘आश्रमों’ में भी इस प्रकार की अवैध गतिविधियों का संचालन होता है। जैन ने कहा कि पादरियों के यौन शोषण के समाचार भी आए दिन समाचार पत्रों में आते रहते हैं। कुछ दिन पूर्व ही एक नन ने पांच पादरियों पर आरोप लगाया था कि वे कई वर्षों से उसका यौन शोषण कर रहे थे। पीड़ितों ने इसकी शिकायत चर्च के वरिष्ठ अधिकारियों से भी की लेकिन उन्हें लगातार अनसुना किया जाता रहा ।

विश्व हिन्दू परिषद ने केंद्र सरकार से चर्च पादरियों तथा उनके द्वारा संचालित संस्थाओं की गहन जांच हेतु एक आयोग बनाने, धर्मांतरण विरोधी कानून बनाने, पर्यटन के बहाने धर्मान्तरण व धर्म-प्रचार में लिप्त विदेशियों पर शिकंजा कसने व पादरियों द्वारा बच्चों व ननों का शोषण किए जाने पर अबिलम्ब अंकुश लगाने की मांग की है।

विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डा सुरेन्द्र जैन ने कहा कि चर्च व उसके द्वारा संचालित तथा-कथित सेवा कार्य धर्मांतरण ही नहीं अपितु कई प्रकार के अवैधानिक-अनैतिक कृत्यों के केंद्र बन चुके हैं। इन कृत्यों के सामने आने के बावजूद ऐसे मामलों पर कुछ खास कार्रवाई नहीं होती है।

हिन्दुस्थान समाचार/अनूप

पत्रिकाएँ
image