Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, मार्च 23, 2019 | समय 05:50 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

गुरुनानक के 550 वें जन्मदिन पर राजगीर में होगा प्रकाश पर्व का आयोजन

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jan 11 2019 8:05PM
गुरुनानक के 550 वें जन्मदिन पर राजगीर में होगा प्रकाश पर्व का आयोजन

रामविलास

मुख्यमंत्री ने राजगीर में रखी गुरुद्वारा की आधारशिला

राजगीर , 11 जनवरी(हि.स.)।राजगीर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को गुरुद्वारा श्री गुरुनानक शीतल कुंड का शिलान्यास किया। इस शिलान्यास के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन केंद्र राजगीर के विकास में एक नई कड़ी जुड़ गई है। 966 करोड़ 17 लाख की लागत से बनने वाले इस गुरुद्वारा का निर्माण कार्य अक्टूबर तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। गुरु नानक महाराज के 550 वें जन्मोत्सव पर होने वाला प्रकाश पर्व राजगीर में मनाने की सिक्ख धर्मावलंबियों ने इच्छा जाहिर की।

मुख्यमंत्री ने यहां के गुरुद्वारा में मत्था टेक कर प्रदेश में खुशहाली और अमन चैन की मन्नतें मांगीं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राजगीर पौराणिक और अद्भुत जगह है। यह ऐसी जगह है जहां सभी धर्म के महापुरुष पधारे हैं। यह सभी धर्मों के तीर्थस्थल के रूप में आदि अनादि काल से विख्यात है। यहां गुरु नानक के अलावा भगवान बुद्ध, तीर्थंकर महावीर और मखदूम साहब भी आए थे। उन्होंने कहा कि राजगीर को मगध साम्राज्य की पहली राजधानी का गौरव प्राप्त है। पंच पर्वतों से घिरे राजगीर में मगध सम्राट बिंबिसार और अजातशत्रु की राजधानी थी। बाद में मगध की राजधानी पाटलिपुत्र बनी। आज जहां राजधानी है वह पाटलिपुत्र नहीं, बल्कि पटना साहिब (पटना सिटी) ही असली पाटलिपुत्र है। मुख्यमंत्री ने कहा पौराणिक आधार पर राजगीर अद्भुत जगह है। यहां कौन नहीं पधारे हैं ।

गुरु नानक देव भी राजगीर पधारे थे। लोगों की इच्छा के अनुकूल शीतल कुंड का निर्माण उन्होंने किया था । वे यहां कुछ दिन रुके भी थे। इस अद्भुत जगह पर हर साल 14 जनवरी से मकर संक्रांति मेला का विशाल आयोजन किया जाता है। यहां हर तीन साल पर मलमास मेले का आयोजन किया जाता है । उस मेले में 33 करोड़ देवी -देवता राजगीर पधारते हैं और एक महीने तक कल्पवास करते हैं। हिंदुओं के इन मेलों में बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते और गर्म जल के कुंडों में स्नान कर सुखद आनंद की अनुभूति करते हैं। उन्होंने कहा कि भगवान महावीर ने यहां 14 वर्षों तक प्रवास किया था। महात्मा बुद्ध ज्ञान प्राप्ति के पहले और बाद में भी राजगीर आये। उन्होंने 12 वर्षों तक राजगीर में प्रवास किया था। नीतीश कुमार ने कहा कि 512 साल पहले गुरु नानक राजगीर आए थे।

मुख्यमंत्री अपने सात दिवसीय प्रवास के दौरान राजगीर के गुरु नानक कुंड को भी देखने आये थे। उस समय नानक कुंड की हालत बहुत खराब थी। उसका जीर्णोद्धार और पुनर्निर्माण करा दिया गया है। उन्होंने कहा कि उसी समय से उनके मन में इसके पुनर्निर्माण की बात चल रही थी, जो अब साकार रूप लेने वाला है। आज इसका शिलान्यास हो गया है। वे चाहते हैं कि निर्धारित समय सीमा के भीतर इसका निर्माण कार्य पूर्ण हो। गुरु नानक जन्मोत्सव के मौके पर 550 वां प्रकाश पर्व राजगीर में आयोजित हो ।उस समारोह में राज्य सरकार हर संभव सहयोग करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार सरकार ने गुरु गोविंद सिंह के जन्मदिन पर अवकाश घोषित किया है। मुख्यमंत्री की इस घोषणा का सिख समुदाय के लोगों ने करतल ध्वनि से स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने राजगीर के गौरवशाली इतिहास, पटना के गाय घाट के नामकरण और पटना के प्रकाश पर्व पर विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि बिहार में अनेक अद्भुत जगहें हैं। उन्होंने कहा कि अब पटना में प्रकाश पर्व में टेंट सिटी बनाने की जरूरत नहीं होगी।

मुख्य सचिव को उन्होंने टेंट सिटी की जगह कम्युनिटी सेंटर बनाने का आदेश दिया है। इस कम्युनिटी सेंटर को प्रकाश पर्व के मौके पर सिख समुदाय को समर्पित कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पटना साहिब जाने में पहले श्रद्धालुओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। उसका स्थाई निदान कर दिया गया है। बायपास से ओवर ब्रिज के निर्माण होने से श्रद्धालु आसानी से पटना साहिब गुरुद्वारा तक पहुंच रहे हैं। इस अवसर पर सिख वक्ताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की काफी तारीफ की। उनके कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें सेवारत्न की संज्ञा से नवाजा । वक्ताओं ने कहा बिहार गरीब जरूर है लेकिन सेवा भाव में सबसे ऊपर है। नीतीश कुमार की सेवा का केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया कायल है। उनके काम, लगन, ईमानदारी और सेवा से सभी लोग प्रसन्न और हैरान हैं । वे अमीरों के नहीं गरीबों के सेवक हैं।

उन्होंने कहा कि बिहार की तरह देश की भी तरक्की होनी चाहिए । तभी भारत का नाम दुनिया में सबसे आगे हो सकता है। इस अवसर पर भारत के अलावा यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका सहित दुनिया के कई भागों में रह रहे सिख समुदाय की कई हस्तियां बड़ी संख्या में शामिल हुईं। इस अवसर पर सरदार महेंद्र सिंह, केदार सिंह, इंद्रजीत सिंह, हरपाल सिंह, पूर्व मुख्य सचिव एवं योजना आयोग के सचिव जी एस कंग, गोविंद सिंह, इकबाल सिंह, अवतार सिंह, गुरमीत सिंह, विजेंद्र सिंह, मुस्कान सिंह एवं अन्य लोगों ने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर नालंदा के प्रभारी मंत्री सह ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार, सांसद कौशलेंद्र कुमार, विधायक रवि ज्योति कुमार और चंद्रसेन प्रसाद के अलावा अनेक विशिष्ट व्यक्ति भी उपस्थित थे । कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री ने लंगर भी छका। हिन्दुस्थान समाचार

लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image