Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 23:59 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जनजातीय वर्ग के लिए समर्पित था स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती का जीवन: धर्मेन्द्र प्रधान

By HindusthanSamachar | Publish Date: Feb 24 2019 8:29PM
जनजातीय वर्ग के लिए समर्पित था स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती का जीवन: धर्मेन्द्र प्रधान
भुवनेश्वर, 24 फरवरी (हि.स.)। स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती का जीवन जनजातीय वर्ग के लिए समर्पित था। सभी स्वामी जी के आशीर्वाद के भिक्षार्थी थे। सबको स्वामी जी का मार्गदर्शन मिलता रहा। कंधमाल जिले के विकास के लिए उन्होंने एक बीज बोया था। विकास के लिए उनकी मूल शर्त थी कि सही होने पर समाज का विकास होगा। यह बातें रविवार को केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कंधमाल जिले के जलेशपेटा स्थित ब्रह्मलीन स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती के आश्रम में विभिन्न परियोजनाओं के उद्घाटन अवसर पर कही। प्रधान ने कहा कि पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं पर अधिक ध्यान दिया जाए, यह मत स्वामी जी का था। यही कारण है कि जलेशपेटा में उन्होंने शंकराचार्य संस्कृत कन्याश्रम की स्थापना की थी। उन्होंने कहा कि कंधमाल जिले में शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वावलंबन, स्वाभिमान, संस्कृति आदि मुद्दे स्वामी जी के प्रिय विषय थे। जनजाति समाज स्वावलंबी होने के साथ-साथ संस्कृत की पढ़ाई करें, यह उनकी इच्छा थी। अराष्ट्रीय शक्तियों के कारण स्वामी जी को बलिदान देना पड़ा। हिन्दुस्थान समाचार/समन्वय/वीरेन्द्र
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image