Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, अक्तूबर 16, 2018 | समय 20:45 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

अगस्त से मुंबई-गोवा क्रूज सेवाओं का होगा शुभारंभ

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 14 2018 12:45PM
अगस्त से मुंबई-गोवा क्रूज सेवाओं का होगा शुभारंभ

मुंबई, 14 जुलाई (हि.स.)। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मुंबई-गोवा क्रूज सेवा अगले महीने अगस्त से शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि मुंबई गोवा के बीच पहली क्रूज सेवा का शुभारंभ किया जाएगा, जिससे टूरिज्म को बूस्ट करने में मदद मिलेगी।

महाराष्ट्र राज्य सरकार ने अपने बजट में समुद्री पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए निधि का प्रावधान किया है। मुंबई में दो फ्लोटिंग रेस्तरां की भी शुरुआत होगी। मंत्री ने कहा कि मुंबई और गोवा के बीच शुरू होने वाली पहली क्रूज की यात्री क्षमता 500 होगी और यह सेवा 1 अगस्त से पूरी तरह शुरू होगी। इसके लिए सेंटर मिनिस्ट्री ने सभी पोर्ट्स को क्रूज टर्मिनल सेटअप करने के लिए कहा है।

केंद्र सरकार की ओर से संशाधनों को खड़ा किया जाएगा। इसके लिए 800 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए जाएंगे। केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि केंद्र सरकार ने समुद्री यातायात के साथ ही पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में ठोस कदम उठाए हैं। इसके तहत देश के समुद्रीय किनारों के राज्यों में क्रूज सेवाओं को शुरू किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने क्रूज सेवाओं को संचालित करने के लिए शिपिंग कॉरपोरेशन को आर्थिक सहायता प्रदान करेगी और बोट खरीदने के लिए 800 करोड़ रुपये देगी। उन्होंने कहा कि सरकार 10 जलमार्गों को पूरा करने की योजना के लक्ष्य को हासिल करने में सफल रही है।

उन्होंने कहा कि कोर्ट ने ट्रैफिक समस्या से निजात दिलाने के लिए सरकारों को निर्देश दिए हैं। खासकर मुंबई में ट्रैफिक समस्या को देखते हुए मानसून के दौरान यातायात व्यवस्था के बाधित हो जाने पर भी नाराजगी जताई है और सरकार को रेलवे और सड़क यातायात सुविधाओं को बेहतर करने के साथ ही समुद्र मार्ग से आवागमन के विकल्प पर भी विचार करने को कहा है।

कोर्ट ने पुराने व जर्जर बहनों से होनेवाले पर्यावरण प्रदूषण को लेकर भी कड़ी फटकार लगाई है। गडकरी ने कहा कि भारत सरकार जल्द ही 15 साल से अधिक कॉमर्शियल वाहनों को स्क्रैप करने की पॉलिसी लाने जा रही है। इस पॉलिसी का लक्ष्य देश में बढ़ते वाहन प्रदूषण को रोकना है। इसके अलावा कांडला बंदरगाह को ऑटोमोबाइल कलस्टर बनाने की दिशा में भी काम किया जा रहा है। भारत को ऑटोमोबाइल हब बनाने के लिए भी ठोस प्लान तैयार किया गया है।

हिन्दुस्थान समाचार/ राधेश्याम

image