Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 19, 2019 | समय 19:46 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जीडी बिड़ला की यादगार स्मृति नागदा का विष्णु मंदिर

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 12 2019 9:33PM
जीडी बिड़ला की यादगार स्मृति नागदा का विष्णु मंदिर
शनिवार को मनाया जायेगा जीडी बिड़ला का जन्मदिन नागदा, 12 अप्रैल (हि.स.) । प्रख्यात चिंतक, लेखक एवं उद्योगपति घनश्यामदास बिड़ला का जन्मदिन रामनवमी 13 अप्रैल, शनिवार को ग्रेसिम इंड्स्टीज इकाई नागदा की अगुवाई में संस्थापक दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस मौके पर सायं 7 बजे भक्ति संगीत का कार्यक्रम होगा। शहर के गणमान्य को आयोजन में आंमत्रित किया गया है। यह कार्यक्रम वहां रखा गया है जहां दिवंगत जीडी बिड़ला के संकल्पों की एक यादगार स्मृति शिल्पकला का उत्कृष्ट प्रतीक शेषशायी विष्णु मंदिर है। इस विशाल मंदिर के निर्माण का बीड़ा बाबू घनश्यामदास बिड़ला ने अपने जीवनकाल में उठाया था। उनका यह सपना फरवरी 1978 में मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के साथ पूरा हुआ। बाद में घनश्यामदास बिड़ला का 11 जून 1983 को निधन हो गया। बिड़लाजी ने मंदिर निर्माण का दायित्व देश के मशहूर शिल्पशास्त्री बलवंतराव को सौंपा था। लेकिन मंदिर निर्माण के पूर्व ही बलवंत राव का निधन हो गया। बाद में बलवंत राव के पिता पद्मश्री स्वं प्रभाशंकर औघड़भाई सोमपूरा एवं प्रपोत्र चंद्रकांत बलवंतराव के निर्देशन में कार्य पूरा। लगभग 12 वर्षो में निर्माण कार्य पूरा हुआ। शिल्पी ओघड़भाई सोमपूरा ने शिल्पकला के क्षेत्र में कई पुस्तकों का प्रकाशन किया था। नागदा में शेषशायी विष्णु मंदिर का निर्माण उनके जीवन की एक श्रेष्ठ शिल्पकला के प्रदर्शन का अंतिम कार्य था। मंदिर लगभग 18 एकड़ की भूमि में बना हुआ है। मंदिर में भगवान विष्णु रंग- बिरंगे आभूषणों में श्रंगारित सर्प वलयों में लेटे हुए हैं। जिनके सिर पर नागफ ल एवं हाथों में कमल, शंख चक्र ,गदा एवं नाभि से निकले पुष्प ब्रहमा बैठे हैं। वहीं, लक्ष्मी जी भी विराजमान है। इस मूर्ति का निर्माण राजस्थान कला केंद्र जयपुर में किया गया है। मंदिर को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। जोकि शिल्कला का एक उत्कृष्ट नमूना है। हिन्‍दुस्‍थान समाचार/ कैलाश/मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image