Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 12:26 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जिनके पूर्वज राष्ट्रद्रोही हों, वह महाराज नहीं : शंकराचार्य

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 11 2019 4:00PM
जिनके पूर्वज राष्ट्रद्रोही हों, वह महाराज नहीं : शंकराचार्य
अशोकनगर, 11 अप्रैल (हि.स.)। उन लोगों की मानसिकता बहुत घृणित है जो स्वयं को महाराज कहलवा रहे हैं | महाराज उन तीन लोगों को माना जाता है जो देवतुल्य मनुष्य हों, ब्राह्मण कुल से पैदा हों अथवा जो सर्वजन सुखाय-सर्वजन हिताय की बात कर राष्ट्र की सेवा कर रहा हो, वह महाराज कहलवाने का अधिकारी है। जो लोग गुना संसदीय क्षेत्र में महाराज कहलवा रहे हैं, वह राष्ट्रद्रोही हैं, जिनके पूर्वजों ने लक्ष्मीबाई को धोखा दिया, ऐसे लोग समाज को लूटने का षड़यंत्र कर रहे हैं। यह बात शंकराचार्य स्वामी आत्मानंद सरस्वती, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीराम जन्म भूमि न्यास अयोध्या ने गुरुवार को यहां एक पत्रकार वार्ता में कही। शंकराचार्य ने कहा कि लक्ष्मीबाई को धोखा देने वाले और समाज को लूटने वाले कोई महाराज नहीं हो सकते, जनता को इनसे सावधान रहना चाहिए। इस अवसर पर उन्होंने पत्रकारों के सवालों पर कहा कि 65 वर्षों की गंदी राजनीति को कश्मीर को जकड़ कर रखा, पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कश्मीर में काफी सुधार किया है। देश में पहली वार कोई लोकसभा चुनाव राष्ट्रवाद के मुद्दे पर हो रहा है, एक तरफ राष्ट्रवादी लोग हैं तो दूसरी ओर अराष्ट्रवादी तत्व हैं। पर इस चुनाव में नरेन्द्र मोदी 300 सीटें लेकर फिर राष्ट्रवादी सरकार बनाएंगे, और कश्मीर से धारा-370 हटेगी । साथ ही कहा कि इसके साथ अयोध्या में लोकसभा चुनाव बाद जल्द राम मंदिर का निर्माण होगा जिसे कोई ताकत नहीं रोक सकती। हिन्दुस्थान समाचार/ देवेन्द/शंकर
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image