Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 11:45 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जिला अस्पताल में विशेषज्ञों के पद बरसों से रिक्त

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 10 2019 7:35PM
जिला अस्पताल में विशेषज्ञों के पद बरसों से रिक्त
मंदसौर, 10 अप्रैल (हि.स.)। जिला अस्पताल में उपचार कराने जाने वाले अब खाली हाथ लौट रहे हैं। जिस अस्पताल पर जिले भर में 14 लाख लोगों को विशेषज्ञों चिकित्सकों के परामर्श और उपचार का कार्य करना है। उस अस्पताल की स्थिति यह है कि यहां केवल 21 चिकित्सक बचे हैं और इनमें एमडी मेडिसिन तो एक भी नहीं है। अब बुखार, सदी जुकाम सहित सामान्य बीमारियों का उपचार करने वाले भी विशेषज्ञ चिकित्सक यहां नहीं बचे हैं। मेडिकल वार्डों में आए मरीजों को बच्चों के डॉक्टर ही देख रहे हैं। अभी यहां बचे हुए कुछ चिकित्सक भी छोडने का मन बना रहे हैं। जिला चिकित्सालय में अभी प्रथम श्रेणी व द्वितीय श्रेणी चिकित्सकों के 64 पद स्वीकृत हैं और इसमें से 33 तो खाली है। कागजों पर 31 लोग पदस्थ हैं, पर कार्य केवल 21 ही कर रहे हैं। कुछ इस्तीफा दे चुके हैं, पर मंजूर नहीं हो रहा है वहीं कुछ चिकित्सक ही कार्यरत है। इन सभी का असर मरीजों पर हो रहा है। जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, उप स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों से रैफर मरीज जब जिला चिकित्सालय आते हैं तो यहां उनकी सामान्य बीमारियों का उपचार करने वाला भी कोई चिकित्सक नहीं मिलता है। एमडी मेडिसिन एक भी नहीं होने से भी इसका असर यह हो रहा हैं कि यहां पहुंच रहे बुखार, सर्दी-जुकाम सहित अन्य मामूली बीमारियों के मरीजों को न तो ठीक से ओपीडी में उपचार मिल रहा है और न ही अंदर वार्डों में। ग्रामीण क्षेत्रों से आए मरीज भी परेशान हो रहे हैं। सिविल सर्जन डॉ एके मिश्रा ने बताया कि अभी जिला चिकित्सालय में एक भी एमडी नहीं है। इसके अलावा सिर में चोट और जलने वाले मामलों में अधिकांश मरीजों को रैफर करना पड़ रहा है। कई बार चिकित्सकों की पूर्ति के लिए पत्र भेजा है। हिन्दुस्थान समाचार/अशोक / मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image