Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, अप्रैल 23, 2019 | समय 03:40 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

इस बार मतदान से वंचित न रहे कोई भी सर्विस वोटर

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 10 2019 5:13PM
इस बार मतदान से वंचित न रहे कोई भी सर्विस वोटर
उज्जैन, 10 अप्रैल (हि.स.)। अपर कलेक्टर एवं नोडल निर्वाचन अधिकारी ऋषव गुप्ता ने बुधवार को चुनाव कार्य में जुटे अधिकारियों की बैठक लेकर लोकसभा निर्वाचन-2019 के अंतर्गत पोस्टल बैलेट सम्बन्धी डाक संग्रहण और वितरण व्यवस्था की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस बार के चुनाव में कोई भी सर्विस वोटर मतदान से वंचित न रहे, इसके लिये पुख्ता व्यवस्था की जाए। बैठक में बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन द्वारा पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान के पूरे पुख्ता इंतजाम किये जा रहे हैं। बता दें क िसेना, पुलिस बल के जवान तथा शासकीय कर्मचारी जो निर्वाचन ड्यूटी के कारण अपनी कांस्टीटूएंसी से बाहर रहते हैं तथा मतदान नहीं कर पाते हैं, उनके लिये डाक मतपत्र के माध्यम से मतदान करने की व्यवस्था की जाती है। इसके लिये उन्हें फार्म-12 और फार्म-12क जारी किया जाता है, परन्तु ऐसे सर्विस वोटर्स, जिन्होंने घर के ही किसी अन्य सदस्य को अपने मतदान के लिये नॉमिनेट किया है, उन्हें डाक मतपत्र नहीं दिये जायेंगे। अपर कलेक्टर गुप्ता ने कहा कि इलेक्शन ड्यूटी के दौरान अपनी काँस्टीटूएंसी से दूर सबसे अधिक कर्मचारी पुलिस विभाग के होते हैं, इसीलिये उज्जैन जिले के पुलिस कर्मचारियों की सूची निरन्तर अपडेट की जाये। बैठक में जानकारी दी गई कि 32वी वाहिनी उज्जैन के पुलिस कर्मचारियों की सूची प्राप्त हो गई है। अन्य स्थानों से भी सूची मंगाये जाने का कार्य प्रगति पर है। नोडल अधिकारी पोस्टल बैलेट और सहायक श्रमायुक्त मेघना भट्ट ने बैठक में बताया कि लोकसभा निर्वाचन के तहत उज्जैन जिले में आगामी 19 मई को मतदान होना है। निर्वाचन कार्य में संलग्न विभिन्न चुनावकर्मियों के लिये ईडीसी (निर्वाचन कर्तव्य प्रमाण-पत्र) अथवा पोस्टल बैलेट (डाक मतपत्र) जारी करने की व्यवस्था की गई है, ताकि अपनी कांस्टीटूएंसी से दूर कहीं भी ड्यूटी पर कार्यरत होने के बावजूद वे अपने मतदान के अधिकार से वंचित न रहें। इसके लिये व्यापक तौर पर उज्जैन जिले में कार्यवाही की जा रही है और यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि चाहे पुलिस विभाग हो, चाहे अन्य राज्य शासन के विभागों के कर्मचारी हों अथवा बॉर्डर पर तैनात सैनिक हों जो कि उज्जैन जिले के मतदाता हैं, उनमें से कोई भी मतदान से वंचित न रहे। इस सम्बन्ध में बैठक में मौजूद अधिकारियों से विचार-विमर्श किया गया। डाक विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि जिला स्तर पर डाक विभाग द्वारा नोडल अधिकारी नियुक्त किये जायें तथा यह भी सुनिश्चित किया जाये कि डाक विभाग के स्पीडपोस्ट से सेना या अन्य विभागों के कर्मियों के पोस्टल बैलेट प्राप्त हों, उनकी डिलेवरी मतगणना दिनांक की सुबह 8 बजे से पहले तक अनिवार्य रूप से सुनिश्चित की जाये। इसमें किसी भी तरह का विलम्ब न हो, न ही सुरक्षा की दृष्टि से कोई त्रुटि हो। उल्लेखनीय है कि इस बार चुनाव में जिला मुख्यालय पर सभी प्रकार के डाक मतपत्रों के संग्रहण की व्यवस्था की जायेगी तथा पर्याप्त फेसिलिटेशन केन्द्रों की स्थापना की जायेगी, जिससे कोई भी मतदानकर्मी को ईडीसी जारी करवाने या पोस्टल बैलेट जारी करवाने में किसी प्रकार की असुविधा न हो। बैठक में डाक विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि पोस्टल बैलेट सम्बन्धित कर्मी को व्यक्तिगत तौर पर दिये जायें, जिस प्रकार रजिस्टर्ड डाक दी जाती है। डाक विभाग द्वारा जिला मुख्यालय पर प्रतिदिन (मतगणना के दिन को छोडक़र) दोपहर 3 बजे तक प्राप्त पोस्टल बैलेट की डिलेवरी सुनिश्चित की जाये। मतगणना के पूर्व दिन/रात्रि में प्राप्त होने वाली पोस्टल बैलेट के लिये पहले से व्यवस्था सुनिश्चित की जाये, ताकि समय-सीमा में वह रिटर्निंग आफिसर को डिलेवर किया जा सके। मतगणना के दिन प्रात: 8 बजे तक डिलेवरी वाले पोस्टल बैलेट का रिकार्ड तथा समय-सीमा के बाद प्राप्त होने वाले पोस्टल बैलेट का रिकार्ड पोस्टल डिपार्टमेंट द्वारा अलग से बिल के साथ दिया जाये। पोस्टल बैलेट जो स्पीडपोस्ट से प्राप्त होंगे, उनका भुगतान मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मप्र द्वारा किया जायेगा। बिल के साथ रिटर्निंग आफिसर को प्रदाय किये गये पोस्टल बैलेट की प्राप्ति का प्रमाण भी संलग्न किया जाये। बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी शैली कनाश, नोडल अधिकारी पोस्टल बैलेट अरविंद शर्मा, प्रवर अधीक्षक डाक विभाग मालवा संभाग प्रवल्य मोरे, रतलाम जिले के आलोट क्षेत्र डाकघर पदाधिकारी, उज्जैन के डाक विभाग के पदाधिकारी, नोडल पुलिस अधिकारी और सहायक रिटर्निंग अधिकारी मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image