Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 11:53 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

हमें दिव्यांगों से सीखनी चाहिए जीने की कला: कलेक्टर जाटव

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 7:47PM
हमें दिव्यांगों से सीखनी चाहिए जीने की कला: कलेक्टर जाटव
इंदौर, 09 अप्रैल (हि.स.)। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए व्यापक पैमाने पर मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जा रहा हैं। सर्विस वोटर, महिला वोटर और दिव्यांग वोटर पर विशेष फोकस किया जा रहा है। इसी श्रृंखला में मंगलवार को कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने स्कीम नं. 54 स्थित दिव्यांग शिक्षण संस्था संजीवनी सेवा संगम में दिव्यांग विद्यार्थियों से रू-ब-रू चर्चा की। वे दिव्यांगों के आत्मीय स्वागत से अभिभूत हो गये। इस दौरान उन्होंने दिव्यांग विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें जीने की कला दिव्यांगों से सीखना चाहिए। उन्होंने कहा कि आगामी निर्वाचन में जिले के सभी 12 हजार दिव्यांग मतदाता बढ़-चढक़र हिस्सा लें। कलेक्टर जाटव ने कहा कि चुनाव आयोग की मंशा है कि चुनाव में सभी पात्र दिव्यांग मतदाता मतदान अवश्य करें। इस अभियान को सफल बनाने के लिए शासन, प्रशासन और स्वयंसेवी संगठन प्रयासरत हैं। दिव्यांगजन सांकेतिक भाषा और स्पर्श से जानकारी हासिल कर लेते हैं और एक-दूसरे से संपर्क बनाये रखते हैं। मूक-बधिर दिव्यांगों को सांकेतिक भाषा से ही पढ़ाया और समझाया जा सकाता है। चुनाव एक त्यौहार है, इसमें समाज के सभी वर्गों की भागीदारी जरूरी है। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ नेहा मीना ने बताया कि पिछले विधानसभा निर्वाचन में दिव्यांगों ने बढ़-चढक़र हिस्सा लिया था। इस बार भी उन्हें इसी तरह चुनाव महायज्ञ में अपनी आहुति देना है। जिले में अभी भी ऑनलाइन और ऑफलाइन मतदाता सूची में नाम जोड़ जा रहें हैं, जिन दिव्यांग मतदाताओं को नाम मतदाता सूची में नहीं है, तो वे अपना नाम जुड़वा लें। यह उनके लिए अंतिम अवसर हैं। दिव्यांग मतदाता समाज सेवियों, स्वयंसेवी संगठनों और अपने अभिभावकों के सहयोग से चुनाव में मतदान जरूर करें। प्रत्येक मतदान केन्द्र एक "दिव्यांग मतदाता सहायक" नियुक्त किया जायेगा। दिव्यांगों ने इस अवसर पर ईवीएम मशीन चलाकर वोट देने का प्रशिक्षण भी प्राप्त किया। कलेक्टर ने किया नवदीप शिशु कल्याण केन्द्र का निरीक्षण कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव और जिला पंचायत सीईओ नेहा मीना ने मंगलवार को स्कीम नं. 54 स्थित नवदीप शिशु कल्याण केन्द्र (अनाथाश्रम) का आकस्मिक निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होने छोटे-छोटे बच्चों से बातचीत की और उनके खाने-पीने की जानकारी हासिल की। बता दें कि यह अनाथाश्रम सन् 1981 से संचालित है। पहले यह एमवाय अस्पताल में, फिर झाबुआ टॉवर में और अब स्कीम नं. 54 में व्यवस्थित और स्थाई ठंग से चल रहा है। इस शारदा मण्डलोई और आशा सिंह संचालित कर रही हैं। इस संस्था की प्रमुख कुसुमलता दांगी हैं, इसमें लगभग 20 बच्चे हैं। इन बच्चों का केन्द्र सरकार द्वारा ऑनलाइन एडाप्शन (गोद) किया जाता है। इस अवसर पर स्वीप आइकॉन विक्रम अग्निहोत्री, समाज सेवी ज्ञानेन्द्र पुरोहित, शैलेन्द्र सोलंकी आदि मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image