Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 01:17 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

कार्यशाला में बताए गए तम्बाकू सेवन के दुष्परणिाम

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 6:54PM
कार्यशाला में बताए गए तम्बाकू सेवन के दुष्परणिाम
ग्वालियर, 09 अप्रैल (हि.स.)। कंज्यूमर वॉइस नई दिल्ली और नेशनल सेंटर फॉरह्यूमन सेटलमेंट्स एंड एनवायरनमेंट (एनसीएचएसई), भोपाल के संयुक्त तत्वाधान में ग्वालियर में मंगलवार को तंबाकू नियंत्रण पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य स्कूल परिसर के 100 गज के दायरे में तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर किए गए अध्ययन की रिपोर्ट प्रस्तुत करना, साथ-साथ तंबाकू के खतरे से युवा पीढ़ी की सुरक्षा के लिए तंबाकू विक्रेता लाइसेंस और प्रभावी तंबाकू नियंत्रण उपायों का समर्थन करने के लिए हितधारकों को संवेदनशील बनाने के लिए चर्चा करना भी था। कार्यक्रम की शुरुआत में अविनाश श्रीवास्तव, डिप्टी डायरेक्टर, एनसीएचएसई ने भारत और मध्य प्रदेश में तम्बाकू के सेवन की मात्रा और उनके स्वास्थ्य पर विशेष रुप से युवाओं पर पडऩे वाले प्रभाव के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पादों (व्यापार और वाणिज्य, उत्पादन और आपूर्ति और वितरण का निषेध) अधिनियम, 2003 (सीओटीपीए) लागू किया है। अधिनियम का कड़ाई से पालन होना चाहिए। तम्बाकू के खतरे से युवा पीढ़ी की रक्षा के लिए जरूरतों और रणनीतियों पर पैनल चर्चा के दौरान, डॉ. आलोक पुरोहित, जिला नोडल अधिकारी, तम्बाकू नियंत्रण सेल, ग्वालियर, शिक्षा विभाग से आईए जैदी (एडीईओ) एवं संगीता राजोरिया, सेंटर फॉर इंटिग्रेटेड डेवलपमेंट से उमेश वशिष्ठ, इंडियन डेंटल एसोसिएशन के अध्यक्ष राहुल शर्मा, एवं श्रीप्रकाश निमराजे ने अपने विचार साझा किये। कार्यशाला में बताया गया कि सीओटीपीए के अनुपालन में आम नागरिकों का बड़ा योगदान होगा। यदि वे जागरूक हों, अपने आसपास धूम्रपान सम्बन्धी नियमों के उल्लंघन करने वालों की जानकारी सम्बंधित विभाग को दें, वे फोटो खीचकर जिला नोडल अधिकारी तम्बाकू नियंत्रण सेल डॉ. आलोक पुरोहित को मेबा. 9425735434 पर भेज सकते हैं जिससे कार्यवाही की जा सके। तम्बाकू का सेवन एक प्रमुख सामाजिक मुद्दा है, जिसे लाखों लोगों के जीवन को बचाने के लिए पहल करने की आवश्यकता है। कार्यशाला के दौरान तम्बाकू सेवन से बचाव पर जागरूकता करने वाली तीन लघु फिल्मों को भी दिखाया गया। ओपन हाउस डिस्कशन में प्रतिभागियों ने वक्ताओं से सवाल-जबाब किये, कि कैसे तंबाकू के सेवन की आदत से छुटकारा पाया जा सकता है। कार्यशाला में ग्वालियर के प्रबुध्ध नागरिक, छात्र-छात्रायेँ, शिक्षक-शिक्षिकाओं, स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों, शिक्षण संस्थानों विशेषकर डेंटल कॉलेज के छात्र छात्राओं आदि सहित लगभग 70 प्रतिभागियों ने भाग लिया। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image