Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 19, 2019 | समय 20:18 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

तीन सीटों पर कांग्रेस में फंसा पेंच, ग्वालियर में असमंजस की स्थिति

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 6:54PM
तीन सीटों पर कांग्रेस में फंसा पेंच, ग्वालियर  में असमंजस की स्थिति
-भिंड, ग्वालियर और गुना सीटों को लेकर कांग्रेस ने साधी चुप्पी ग्वालियर, 09 अप्रैल (हि.स.)। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और गुना-शिवपुरी के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार टिकट बंटवारे को लेकर असमंजस में दिख रहे हैं। अपनी सीट गुना-शिवपुरी पर वे कोई निर्णय नहीं ले पाए है | सिंधिया परिवार के लिए मजबूत गढ़ माने-जाने वाले ग्वालियर और भिंड को लेकर भी कोई निर्णय नहीं ले पाए हैं। दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सिंधिया को अपने ही घर में फंसाने के लिए ऐसे दांव चले हैं कि उसमें सिंधिया अभी तक उलझते हुए नजर आ रहे हैं। मसलन भिंड लोकसभा क्षेत्र के लिए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के समर्थकों द्वारा जहां बहुजन संघर्ष दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष फूल सिंह बरैया के समर्थन में आवाज उठ रही है तो दलित आंदोलन से जुड़े देवाशीष जारौलिया के लिए प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने सहमति दी है। जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया की ओर से भाजपा के पूर्व सांसद अशोक अर्गल के लिए कहा जा रहा है। अर्गल के समर्थन में यह बात है कि उनका पूरे संसदीय क्षेत्र से जुड़ाव है, लेकिन माइनस पाइंट है कि उन्होंने अभी तक कांग्रेस की सदस्यता नहीं ली है। इनके अलावा बारेलाल जाटव एवं कमलापत आर्य के नाम भी सिंधिया समर्थकों द्वारा लिए जा रहे हैं। भिंड के टिकट को लेकर सबकी निगाह राहुल गांधी कें ऊपर लगी है । ग्वालियर सीट पर सिंधिया असमंजस में : ग्वालियर से भाजपा ने महापौर विवेक नारायण शेजवलकर के नाम की घोषणा की है तो वहीं कांग्रेस से अभी तक कोई दावेदार सामने नहीं आये हैं । सच यह है कि सिंधिया के पास भाजपा का मुकाबला करने वाला अशोक सिंह के अलावा कोई दूसरा नाम नहीं है। अशोक सिंह को दिग्विजय सिंह का करीबी माना जाता है, इसलिए सिंधिया कोई निर्णय नहीं कर पा रहे हैं। स्थिति यह है कि अशोक सिंह का नाम सिंधिया को न तो उगलते बन रहा है और न निगलते । कांग्रेस प्रत्याशी के इंतजार को छोड़कर विवेक शेजलवलकर ने कार्यकर्ताओं से मिलने का दौर शुरू कर दिया है। गुना से सिंधिया ने बनाई दूरी : मालूम हो कि गुना-शिवपुरी के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना सीट से दूरी बना ली है। इस सीट पर प्रियदर्शनी राजे सिंधिया बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से मिलने-जुलने का कार्य कर रही हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रमेश दुबे कहते हैं कि प्रियदर्शनी राजे कार्यकर्ताओं से मेल-मुलाकात कर रही हैं और क्षेत्र की स्थिति को समझने का भी प्रयास कर रही हैं। गुना पर भाजपा अभी तक टोकन फाइट मानती रही है, इसके बाद भी टोकन फाइट करने के लिए भी किसी प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार / लाजपत / मुकेश/शंकर
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image