Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 01:51 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

आंधी ने से आधा सैकड़ा खंबे टूटे, गुल रही बिजली

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 8 2019 8:45PM
आंधी ने से आधा सैकड़ा खंबे टूटे,  गुल रही  बिजली
गुना, 08 अप्रैल (हि.स.)। जिले भर रविवार रात अचानक से मौसम ने करवट ली और तेज आंधी चलने से जन-जीवन अस्त व्यस्त हो गया। बाजारों में अफरा-तफरी मच गई। मकानों के छप्पर, बोर्ड व टीन शेड हवा में उड़ते नजर आए और शहर सहित जिले भर में कई जगहों पर पेड़ व बिजली के खंबे धराशायी हो गए। आंधी के कारण टेंट व दीवार गिरने की घटना में चार लोग घायल हो गए। मौसम शाम से ही मौसम बदलना शुरू हो गया था। आसमान पर बादल छाने लगे और शाम के समय कई स्थानों पर बूंदा-बांदी भी हुई। रात में करीब 10 बजे अचानक आंधी चलने लगी। जिला मुख्यालय पर भी आंधी का खासा असर रहा। लोग हवा से बचने के लिए सुरक्षित जगह की ओर भागे। वाहन चालक भी जहां थे, वहीं रुक कर रह गए। तेज हवा चलने के कारण कृषि उपज मंडी में एक पेड़ व्यापारी के गोदाम पर गिर गया और सुगन चौराहे पर पेड़ की डाल टूट कर बिजली के खंबे पर गिरी जिससे तार टूट गए। सुरक्षा को देखते हुए विद्युत वितरण कंपनी ने तुरंत ही बिजली सप्लाई को बंद कर दिया। दो घटनाओं में चार घायल आंधी चलने से फुलवारी कालोनी में एक मकान की दीवार पास ही स्थित झोपड़ी पर जा गिरी। घटना में परिवार के तीन लोग घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया। घायलों में घनश्याम (7) व गोलू (11) और उनकी मां सखी बाई पत्नि रतन सहरिया शामिल हैं। घटना के समय पिता चौकीदारी पर था। घनश्याम को सिर में चोट आई है और सखी बाई का हाथ फ्रेक्चर हो गया। वहीं जैन समाज के कार्यक्रम में टेंट गिरने से आरोन निवासी कल्याणमल जैन घायल हो गए। कार्यक्रम हुए प्रभावित शहर में जैन समाज के पंच कल्याण और चांद शाह बली दरगाह पर उर्स का कार्यक्रम चल रहा था। अचानक आई आंधी ने दोनों कार्यक्रमों में भी खलल डाला। जैन समाज के कार्यक्रम का टेंट हवा से गिर गया और कार्यक्रम में भगदड़ मच गई। वहीं चांदशाह बली पर उर्स के कार्यक्रम में भी बाधा उत्पन्न हुई और यहां भी टेंट लाइटें सब हवा में उडऩे लगे। जिसके कारण कार्यक्रम करीब एक-डेढ़ घंटे तक रुका रहा। आंधी से 50 खंभे टूटे, 150 गांव प्रभावित तेज आंधी के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में 32 व 11 केवी के बिजली के करीब 50 खंबे गिर गए। जिसके कारण 150 गांवों में बिजली रात भर गुल रही। गुना से बदरवास जाने वाली लाइन भी सैंधुआ गांव के पास टूट कर गिर गई। बिजली विभाग के अनुसार 11केवी की 100 से अधिक लाइनें प्रभावित हुई हैं, जिन्हें सोमवार दोपहर तक चालू करा दिया गया। चांचौड़ा क्षेत्र में दोपहर बाद तक काम जारी रहा, यहां लाइन चालू कराने में समय लगा। शहर में तार टूटने की दो सैंकड़ा शिकायतें शहर में भी तार टूटने की शिकायतों ने रिकार्ड तोड़ दिया। एक साथ 200 स्थानों पर तार टूटने की शिकायत मिली। हालांकि आंधी थमते ही विद्युत वितरण कंपनी हरकत में आई और सभी शिकायतों का निराकरण करते हुए डेढ़ से दो घंटों में बिजली सलाई चालू करवा दी गई। सोमवार को भी लाइनों को दुरस्त करने का काम जारी रहा। गुना डिवीजन में सैकड़ों गांवों की बिजली गुल गुना डिवीजन की ग्रामीण लाइन कई जगह टूटी। 33केवी लाइन के 4 खंभे टूट गए। याना के पास सैंधुआ गांव पर बदरवास लाइन टूट गई। जिसे सोमवार को चालू कराया। बमोरी क्षेत्र में रामपुर में 11 केवी खंभे टूट गए। तेज हवा से 11केवी के 26 खंभे टूटे हैं। उप महाप्रबंधक पंकज यादव ने बतायाए लाइन को दोपहर तक चालू करा दिया है। राघौगढ़ में हवा से टूटे 23 खंभें राघौगढ़ डिवीजन में भी आंधी से कई लाइन प्रभावित हुई हैं। सानई, बांसाहेड़ा, चांचौड़ा और मधुसूदनगढ़ मिलाकर करीब 23 खंभे टूट गए हैं। इस वजह से गांवों में बिजली रातभर बंद रही। विद्युत कंपनी के एजीएम एसपी शर्मा ने बताया कि चार स्थानों पर बड़ी घटनाएं हुई हैं। पश्चिमी विक्षोभ बना कारण, दिशा बदली मौसम में परिवर्तन का कारण पश्चिमी विक्षोभ को बताया गया है। सोमवार को सुबह 5 बजे से 6 बजे के बीच जिले में .3 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई। पश्चिमी विक्षोभ एल अक्षर की दिशा में चल रहा था, लेकिन अब यू अक्षर के आकार में हो गया है। एक पश्चिमी विक्षोप पीछे भी चल रहा है। इससे चार दिन बाद मौसम फिर बदल सकता है। इस दौरान बवंडर और तेज हवाएं चलेंगी। हालांकि मौसम में बदलाव का तापमान में ज्यादा असर नहीं रहा। सोमवार को दिन का अधिकतम तापमान 40.4 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 23.2 डिग्री दर्ज किया गया। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक / मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image