Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 13:36 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बदला मौसम कहीं बूदांबांदी तो कहीं झमाझम

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 7 2019 7:47PM
बदला मौसम   कहीं  बूदांबांदी तो कहीं झमाझम
गुना, 07 अप्रैल (हि.स.)। प्रदेश के अन्य जिलों से आ रहीं मौसम में बदलाव की खबरों के बीच रविवार को जिले में भी मौसम का बदला मिजाज देखने को मिला। इस दौरान तेज हवाएं चलीं तो कहीं बूदांबांदी तो कहीं बादल झमाझम अंदाज में बरसे। मौसम में हुए इस बदलाव से जहां तापमान में गिरावट दर्ज की गई है तो लोगों को गर्मी से भी राहत मिली है। दूसरी ओर मौसम के बदले मिजाज से किसानों की सांसें हलक में अटककर रह गईं है। दरअसल इस समय फसल कटाई का समय चल रहा है और कटी फसल खलिहानों में रखी हुई है। ऐसे में अगर बारिश तेज होती है तो फसल को भारी नुकसान होगा। दोपहर में बदला मौसम, बूंदाबांदी हुई मौसम का मिजाज दोपहर में बदला। हालांकि रविवार की सुबह भी रोज की तरह गर्मी से भरी आई थी और दिन चढ़ते-चढ़ते गर्मी ने अपना रौद्र रुप अख्तियार कर लिया था। मारे गर्मी के लोग पसीना-पसीना हो रहे थे। ऐसे में मौसम में अचानक बदलाव देखने को मिला। आसमान में डटे रहकर धरती पर आग के गोले बरसा रहे सूर्य देवता को बादलों ने अपने आगोश में समेट लिया। इसके साथ ही हवाएं चलने लगीं। कुछ हिस्सों में बेहद मामूली बूदांबांदी भी हुई। यह मौसम थोड़ी देर तक रहा, इसके बाद फिर तेज धूप निकल आई। फिर शाम तक मौसम ऐसा ही बना रहा। राघौगढ़, मधुसूदनगढ़ में बारिश, आरोन में बादल छाए तो चांचौड़ा में तेज हवाएं रविवार की दोपहर जिले भर में मौसम अचानक परिवर्तित हुआ। मौसम के बदले मिजाज का असर पूरे जिले में एक साथ देखने को मिला। जहां शहर में आसमान पर बादल छाने के साथ बूदांबांदी हुई तो राघौगढ़ और मधुसूदनगढ़ में बारिश हुई। इस दौरान किसी हिस्से में झमाझम तो कुछ इलाकों से बूदांबांदी की खबरें निकलकर सामने आई। इसी तरह आरोन में बादल छाने के साथ हवाएं चलीं, यहां ग्रामीण क्षेत्र में बूदांबांदी की खबरें है। इसके साथ ही बीनागंज और चांचौड़ा में तेज हवाएं चलीं। यहां काफी देर तक आसमान पर बादल छाए रहे, किन्तु बरसे रही। बमौरी क्षेत्र में भी बूदांबांदी हुई तो कुंभराज में रह-रहकर दिन भर आसमान पर बादल छाए रहे। मौसम विभाग के अनुसार फिलहाल एक, दो दिन मौसम ऐसा ही रहेगा, इस दौरान गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है। फसलों में दाग लगने से कम मिलेगी कीमत किसानों की जान इस बारिश ने हलक में अटका दी है। वह ईश्वर से प्रार्थना कर रहे है कि बारिश न हो। किसानों के मुताबिक इस बारिश से कटे पड़े गेहूं को तो नुकसान हुआ ही है, साथ ही अगर बारिश तेज होती है तो खड़ी फसल को भी नुकसान होगा। मसूर, चना की भी कटनी शुरू हो गई है। खलिहानों में पड़े इन फसलों को भी काफी नुकसान हुआ है, वहीं जो फसल खड़े हैं, उनमें दाग लग जाने से उनकी कीमतें कम हो जाएंगी। मंगल सिंह ने बताया कि बारिश से गेहूं पर दाग लग जाएगा। इससे गेहूं की कीमत में प्रतिकिलो एक से तीन रुपए तक की कमी आ जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक / मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image