Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, मार्च 22, 2019 | समय 20:37 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

अनिवार्य पंजीकरण वाला प्रवासी भारतीय विवाह विधेयक राज्यसभा में पेश

By HindusthanSamachar | Publish Date: Feb 11 2019 9:03PM
अनिवार्य पंजीकरण वाला प्रवासी भारतीय विवाह विधेयक राज्यसभा में पेश

अजीत

नई दिल्ली, 11 फरवरी (हि.स.)। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने विवाहित महिलाओं को सुरक्षा देने वाला ऐतिहासिक प्रवासी भारतीय विवाह विधेयक सोमवार को राज्यसभा में पेश किया, जिसमें ऐसे विवाह को तीस दिन के अंदर अनिवार्य रूप से पंजीकृत कराने का प्रावधान है। यह विधेयक विदेश मंत्रालय, महिला और बाल कल्याण मंत्रालय, गृह और कानून मंत्रालय के सम्मिलित प्रयासों से तैयार किया गया है।

प्रवासी भारतीय विवाह पंजीकरण विधेयक,2019 का उद्देश्य है कि प्रवासी भारतीयों से विवाह करने वाली भारतीय महिलाओं को सुरक्षा मिले और उनका शोषण न हो सके। विधेयक में ऐसे विवाहों का तीस दिन के अंदर पंजीकरण कराना अनिवार्य किया गया है, जिसके कारण परिवार संबंधी विभिन्न कानूनों को प्रभावी ढ़ंग से लागू किया जा सकेगा। विधेयक के अंतर्गत पासपोर्ट कानून 1967 और दंड प्रक्रिया संहिता 1973 में संशोधन करने का प्रावधान है। यदि कोई प्रवासी भारतीय विवाह के तीस दिन के अंदर इसका पंजीकरण नहीं कराता है तो उसका पासपोर्ट जब्त या रद्द किया जा सकता है। पत्नी को छोड़ने वाले व्यक्ति को न्यायालय समन और वारंट जारी कर सकता है। यदि अभियुक्त न्यायिक प्रक्रिया के साथ सहयोग नहीं करता है तो उसकी संपत्ति जब्त की जा सकती है और न्यायालय उसे भगोड़ा घोषित कर सकता है।

उल्लेखनीय है कि विदेश मंत्रालय को परित्यक्त महिलाओं की ओर से ऐसी शिकायत मिलती रहती है जिसमें पति द्वारा उन्हें छोड़े जाने या परेशान करने की शिकायत रहती है। इस विधेयक से दुनिया के किसी भी देश में विवाह के बाद जाने वाली महिलाओं को आवश्यक सुरक्षा मिल सकेगी।

हिन्दुस्थान समाचार

लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image