Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, नवम्बर 21, 2018 | समय 07:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

मोदी सरकार ने रेलवे को राजनीतिकरण से मुक्त कराया : पीयूष गोयल

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 27 2018 6:53PM
मोदी सरकार ने रेलवे को राजनीतिकरण से मुक्त कराया : पीयूष गोयल

सुशील

नई दिल्ली। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने एक अलग रेल बजट पेश करने की दशकों पुरानी प्रथा को बंद करके रेलवे को राजनीतिकरण के चंगुल से मुक्त करा दिया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने यहां एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 65 वर्षों में रेलवे बजट को राजनीतिक \"उपकरण\" के रूप में इस्तेमाल किया गया। इसके आधार पर चुनाव लड़े गए और वादे किए गए थे।

पिछली सरकारों की तुलना में मोदी सरकार की नीतियों की अवधारणा और निष्पादन दोनों में काफी अंतर है। इसी के चलते मोदी सरकार ऐसी अनेक योजनाओं पर ध्यान केंद्रित कर रही है जो न केवल समावेशी और टिकाऊ विकास प्रदान करती हैं, बल्कि भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़ी शक्ति के रूप में उभरने में मददगार हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने रेलवे के कामकाज को बदल दिया। हमने राजनीतिक हस्तक्षेप को दूर करने के लिए अलग रेलवे बजट की अवधारणा से छुटकारा पाया और किसी भी राजनीतिक दल के बजाय भारत के लिए अच्छा क्या है इस बात को प्राथमिकता देना शुरू किया है।

उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार सालों में किए गए निवेश सुरक्षा, यात्री सेवाएं और निवेश पर रिटर्न पहलुओं पर केंद्रित हैं। उन्होंने कहा जहां तक रेलवे का सवाल है हमने डीजल इंजनों को प्रतिस्थापित करने के साथ ही सौ प्रतिशत विद्युतीकरण का लक्ष्य रखा है।

उल्लेखनीय है कि 21 सितंबर 2016 को केंद्र सरकार ने रेल बजट को आम बजट में सम्मिलित करने का निर्णय लिया था। इसके बाद 1 फरवरी 2017 को संसद में देश का पहला 2017-18 का संयुक्त बजट पेश किया गया था। हिन्दुस्थान समाचार

image