Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अगस्त 16, 2018 | समय 12:31 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बंगाल में रहने वाले शरणार्थियों को जमीन देगी ममता सरकार

By HindusthanSamachar | Publish Date: Feb 13 2018 8:46PM
बंगाल में रहने वाले शरणार्थियों को जमीन देगी ममता सरकार

कोलकाता, (हि.स.)। वोट बैंक के लिए मुस्लिम तुष्टीकरण नीति के कारण हमेशा सवालों के घेरे में रहने वाली ममता बनर्जी ने एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। मंगलवार को नदिया जिले में एक कार्यक्रम को संबोधित करते उन्होंने राज्य में रहने वाले शरणार्थियों को 13,000 एकड़ भूमि पट्टा पर दिए जाने की घोषणा की। माना जा रहा है कि उनका इशारा अवैध तरीके से रह रहे बांग्लादेशियों और रोहिंग्याओं मुसलमानों की ओर था। ममता ने यह भी दावा किया कि लोगों को दफनाने और जलाने के लिए 2,000 रुपये सरकार देती है। आपको इस देश में कहीं भी ऐसी सरकार नहीं मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की कि लड़कियों के लिए एक नई योजना फरवरी में शुरू की जाएगी जिसे 'रूपश्री' कहा जाएगा, जहां छह लाख लड़कियों को हर साल 25,000 रुपये मिलेगा और यदि वे शादी के बाद भी पढ़ाई जारी रखना चाहती हैं तो उन्हें समर्थन दिया जाएगा। आगामी पंचायत चुनावों के दौरान लोगों को बीजेपी से सावधान रहने का आग्रह करते हुए उन्होंने कहा, 'भाजपा राजनीतिक लाभ के लिए दंगों को उकसाती है। इन्हें लोगों के मरने या घरों को जलाने की परवाह नहीं है। भाजपा की बात मत सुनना। हम हिंदू हैं और जानते हैं कि सभी धर्मों को प्यार और सम्मान कैसे करना है और उन्हें हिंदुत्व भाजपा से सीखने की ज़रूरत नहीं है। वे हिंदू देवताओं को सड़कों पर फेंक कर और उनके साथ राजनीति करके हिंदुत्व का अपमान कर रहे हैं।'
मुख्यमंत्री ने सरकार द्वारा प्रमुख कार्यों को सूचीबद्ध किया और टीएमसी के कार्यकर्ताओं से कहा कि काम जारी रखने के लिए आगामी चुनावों में हर पंचायत सीट को जीतना होगा। ममता ने कहा कि 'हम 13,000 किलोमीटर ग्रामीण सड़कों का निर्माण कर रहे हैं, 25 लाख घरों का निर्माण पूरा कर रहे हैं, मुफ्त स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराते हैं और चावल और आटे को प्रति किलो 2 रुपये के हिसाब से गरीबों को दे रहे हैं।' साथ ही 57 लाख लाभार्थियों को अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति प्रमाण पत्र जारी किए गए हैं।
image