Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, दिसम्बर 18, 2018 | समय 18:33 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

''कमांड एरिया विकास'' कार्यक्रम में तेजी लाने की जरूरत : गडकरी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Mar 13 2018 7:22PM
'कमांड एरिया विकास' कार्यक्रम में तेजी लाने की जरूरत : गडकरी
नई दिल्ली, 13 मार्च (हि.स.)। जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने त्वारित सिंचाई लाभ कार्यक्रम (एआईबीपी) के अंतर्गत कमांड एरिया विकास (सीएडी) के लिए आवंटित धन का तेजी से उपयोग करने को कहा है। श्री गडकरी आज नई दिल्ली में कमान एरिया विकास पर आयोजित सम्मेलन का उद्घाटन कर रहे थे। जल संसाधन मंत्री ने इस बात पर चिंता व्यक्त की कि सीएडी के लिए आवंटित धन का पर्याप्त इस्तेमाल नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि उचित तरीके से सीएडी लागू नहीं करने पर त्वरित सिंचाई लाभ कार्यक्रम का सम्पूर्ण उद्देश्य धरा रह जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से शहरी क्षेत्रों में बड़े स्तर पर पलायन के प्रमुख कारणों में एक जल की कमी है। उन्होंने कहा कि जल संसाधनों का वैज्ञानिक नियोजन और प्रबंधन समय की आवश्यकता है। उन्होंने सूक्ष्म सिंचाई, टपक सिंचाई जैसे नए सिंचाई व्यवहारों की चर्चा करते हुए कहा कि इससे न केवल जल की बचत होगी, बल्कि कृषि उत्पादन भी बढ़ेगा और प्रति एकड़ कृषि लागत कम होगी। श्री गडकरी ने कहा कि बड़े बांध बनाने की जगह हमें चेक डैम, रबर डैम तथा छोटे बराज बनाने की संभावनाओं का पता लगाना चाहिए। श्री गडकरी ने विशेषज्ञों से इन विषयों पर विचार करने तथा बेकार प्रौद्योगिकी तथा पुरानी धारणाओं से छुटकारा पाने को कहा। कमांड एरिया विकास कार्यक्रम भारत सरकार द्वारा 1974-75 में लांच किया गया था। इसे नया ढांचा दिया गया और 2004 में इसका नाम कमान एरिया विकास तथा जल प्रबंधन (सीएडीडब्यूएम) कार्यक्रम रखा गया। 12वीं योजना से यह कार्यक्रम त्वरित सिंचाई लाभ कार्यक्रम (एआईबीपी) के साथ-साथ लागू किया जा रहा है। हर खेत को पानी के घटक के रूप में यह प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) के अंतर्गत लागू किया जा रहा है। जुलाई 2016 से आगे सीएडीडब्यूएम के क्रियान्वयन का फोकस नाबार्ड के धन पोषण से 99 प्राथमिकता वाली सिंचाई परियोजनाओं को मिशन मोड में पूरा करने पर है। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप/राधा रमण
image