Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 19, 2019 | समय 20:03 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

'झूठ और पाखंड की, सहमी हर दुकान, भेदभाव से जो परे रच दिया संविधान’

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 14 2019 7:56PM
'झूठ और पाखंड की, सहमी हर दुकान, भेदभाव से जो परे रच दिया संविधान’
फतेहाबाद, 14 अप्रैल (हि.स.)। जिले के मनोहर मैमोरियल कॉलेज में रविवार को जिला प्रशासन के सहयोग से डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दाैरान बच्चों ने डॉ अम्बेडकर पर रचित पंक्तियां सुनाईं- ''झूठ और पाखंड की सहमी हर दुकान, भेदभाव से जो परे रच दिया संविधान''। इन पंक्तियों ने सभी की तालियां बटोरीं। समारोह के मुख्य अतिथि जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी अनुभव मेहता रहे थे जबकि विशिष्ट अतिथि जिला कल्याण अधिकारी रामलाल और खंड शिक्षा अधिकारी अनिल वोहरा थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ. गुरचरण दास ने की। कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ. आंबेडकर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर किया गया। इस अवसर पर अपने संबोधन में अनुभव मेहता ने कहा कि डॉ. भीमराव आंबेडकर को आज पूरा देश याद कर रहा है। आंबेडकर ने अपना पूरा जीवन गरीबों, दलितों एवं पिछड़ी जातियों के हक के लिए समर्पित कर दिया। इस मौके पर विभिन्न प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गईं, जिनमें अनेक स्कूलों के विद्यार्थियों ने भी भाग लिया। विजेता विद्यार्थियों को नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/अर्जुन/अम्बर
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image