Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 01:45 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा है दुर्जनपुर का उप स्वास्थ्य केंद्र

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 13 2019 5:43PM
फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा है दुर्जनपुर का उप स्वास्थ्य केंद्र
जींद, 13 अप्रैल (हि.स.)। गांव दुर्जनपुर पीएचसी केंद्र इन दिनों फार्मासिस्टम के सहारे चल रहा है। यहां पर कार्यरत डॉक्टर की नियुक्ति जींद सिविल अस्पताल में होने के चलते वो सप्ताह में दो दिन ही यहां पर आ पाते है। ऐसे में यहां पर उपचार करवाने आने वाले मरीजों के जांच का जिम्मा यहां पर कार्यरत फार्मासिस्ट पर हैं। यहां पर जो लैब है वहां पर कार्यरत कर्मचारी भी कई महीनों से छुट्टी पर है। ऐसे में खून सहित अन्य जांच भी यहां पर नहीं हो पा रही है। ग्रामीणों ने मांग की है कि जब यहां पर उप स्वास्थ्य केंद्र बनाया गया है तो यहां स्वीकृत पदों पर नियुक्ति की जाए ताकि स्वास्थ्य सेवाएं यहां पर आने वाले मरीजों को मिल सकें। पीएचसी के अधीन 10 गांव आते है। यहां की आबादी 38 हजार है। ग्रामीणों की मांग पर 2009 में उप स्वास्थ्य केंद्र शुरू हो गया था। दांतों के डॉक्टर का पद भी यहां पर रिक्त है। यहां पर स्वीकृत चार नर्सों के पदों में से दो पद रिक्त है। यहां पर कोई महिला डॉक्टर भी नहीं है। करोड़ों रुपए यहां पर उपस्वास्थ्य केंद्र पर स्वास्थ्य विभाग ने खर्च किए हैं लेकिन पद रिक्त होने के चलते इसका कोई फायदा दुर्जनपुर गांव सहित दस गांवें के ग्रामीणों को नहीं हो रहा है। अस्पताल में न डॉक्टर न दवा उचाना सुमित थलौड़, शमशेर सिंह, संदीप सहरावत, कुलदीप, मनोहर, प्रदीप, संदीप ने कहा कि यहां पर न तो डॉक्टर मिलते है न ही गर्भवति महिलाओं के लिए आयरन, कैलशियम की गोलियां मिलती है। दस साल पहले शुरू हुए करोड़ों रुपये की लागत से बने उप स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की कमी के चलते कोई फायदा नहीं हो रहा है। यहां पर महिला डॉक्टर न होने के चलते महिलाओं को उचाना, जींद, नरवाना जाना पड़ रहा है। उप स्वास्थ्य केंद्र होने के चलते यहां पर एंबुलेंस की मांग भी वो कर चुके है। अस्पताल में जाने के लिए कोई पक्का रास्ता नहीं है। कच्चे रास्ते से होकर जाना पड़ रहा है। बारिश के समय तो कच्चे रास्ते में कीचड़ होने के चलते अस्पताल में जा तक नहीं सकते है। चिकित्सक की ड्यूटी नागरिक अस्पताल में उचाना नागरिक अस्पताल कार्यकारी एमओ डाॅ. सुशील गर्ग ने कहा कि दुर्जनपुर में जो डॉक्टर कार्यरत है उनकी ड्यूटी जींद सिविल अस्पताल में लगी है। लैब में कार्यरत कर्मचारी अवकाश पर था जो ड्यूटी पर आ गया है। दवा खत्म होने की जानकारी उन्हें नहीं है। इस बारे में वो पता करेंगे। जो भी रिक्त पद है उनकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दी हुई है। हिन्दुस्थान समाचार/विजेंद्र/वेदपाल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image