Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 20:32 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जीते तो संसद में, हारे तो रोड पर

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 13 2019 2:27PM
जीते तो संसद में, हारे तो रोड पर
नूंह, 13 अप्रैल(हि. स.)। लोकसभा चुनावों में सभी पार्टियों द्वारा अपने उम्मीदवार घोषित किए जा रहे हैं। राष्ट्रीय लोक स्वराज्य पार्टी ने भी अपना चुनावी बिगुल फूंक दिया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रणवीर शर्मा शनिवार को मेवात में कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित कर उन्हें चुनावी समर में पूरे जोश के साथ उतरने का संदेश दिया। बता दें कि रणवीर शर्मा पूर्व में हरियाणा पुलिस में इंस्पेक्टर जनरल रह चुके हैं तथा उन्होंने अपने पद से इस्तीफा देकर उक्त पार्टी की रचना की थी। बातचीत के दौरान रणवीर शर्मा ने साफ कर दिया कि उनकी पार्टी संविधान के 73वें वह 74 में संशोधन को धरातल पर लागू करवाने के मुद्दे पर चुनावी मैदान में उतरी है। जिसके तहत ना केवल लोक स्वराज्य बल्कि लोक लाज की सरकार स्थापित होगी। उन्होंने अपने चुनावी वादों को लेकर एक हलफनामा बनाया है। जो भी कार्यकर्ता उनकी पार्टी से जुड़ता है, तो उसे पार्टी का कार्यकर्ता बनाने से पहले हलफनामे पर साइन लिए जाते हैं तथा उम्मीदवार को पार्टी का टिकट देने से पहले सभी वादों को पूरा करने की अंडरटेकिंग ली जाती है। अब तक सभी पार्टियां मतदाताओं से केवल वादे ही करती हैं। किसी भी पार्टी का ऐसा प्रावधान नहीं है कि उसके उम्मीदवार से किसी हलफनामे पर साइन करवाए जाते हो तथा घोषणा किए गए वादों को पूरा करवाने के लिए अंडरटेकिंग ली जाती हो। उन्होंने कहा कि आज देश में प्रदेश में झूठ की सरकार का बोलबाला है। जो केवल वादे करना जानते हैं। जिसके बाद वह लोगों को भूल जाते हैं। बड़े-बड़े उद्योगपतियों के साथ उनका उठना बैठना हो जाता है। जिसके चलते केवल उनकी जेब भरती है। जबकि विकास कार्य उनके लिए कोई महत्व नहीं रखता। उन्होंने पार्टी का गठन इस व्यवस्था को बदलने के लिए किया है। उन्हें प्रदेश में लोगों का पूरा सहयोग मिल रहा है। वे हरियाणा की 10 सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर चुके हैं। उनकी पार्टी से गुडगांवा लोकसभा सीट पर राज्यपाल के पीआरओ रह चुके आजाद हसनैन जैदी को उम्मीदवार बनाया गया है। जैदी मेवात के ही रहने वाले हैं। अब तक किसी भी पार्टी में किसी मुस्लिम को पार्टी का उम्मीदवार नहीं बनाया है और भविष्य में ना ही ऐसी किसी पार्टी से उम्मीद है। क्षेत्र की विडंबना देखिए की यह एक बहुत बड़ी आबादी मुस्लिम वोटरों की होने के बावजूद उन्हें अपना नुमाइंदा तक खड़ा करने की अनुमति किसी पार्टी ने नहीं दी। यह साफ दर्शाता है कि सभी पार्टियां इस क्षेत्र के साथ दोगला व्यवहार कर रही है तथा विकास में उन्हें कहीं भी अन्य क्षेत्र के समकक्ष नहीं आने देना चाहती। रणवीर शर्मा ने इस मौके पर तावडू निवासी शौकत खान को पार्टी ज्वाइन कराते हुए उन्हें प्रदेश संरक्षक की जिम्मेवारी का सर्टिफिकेट सौंपा। पार्टी से गुड़गांव में लोकसभा के प्रत्याशी आजाद हसनैन जैदी ने कहा कि उनका मकसद जीतना नहीं है। यदि वे जीते तो संसद में होंगे और हारे तो सड़कों पर होंगे। उन्होंने तय कर लिया है कि अब घर वापस नहीं जाना है। जिस क्षेत्र को विकास से महरूम रखा गया है। उस क्षेत्र को जब तक विकास की गति में नहीं लाया जाएगा। वे लगातार विशेष क्षेत्र की लड़ाई लड़ते रहेंगे। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है की मेवात क्षेत्र से सरकार में कोई प्रतिनिधि नहीं रहे हो। लेकिन जो खानदान सरकार के प्रतिनिधि बन कर रहे। उन्होंने जानबूझकर मेवात क्षेत्र को अनपढ़ रखा ताकि उनकी राजनीति और चौधराहट चलती रहे। लेकिन अब समय आ गया है कि उन्हें राजनीति से बाहर का रास्ता दिखाना होगा। ताकि वे मेवात के लोगों की भावनाओं के साथ वे ना खेल सके। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/पंकज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image