Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 12:20 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

वोट उसी को जो दिलाऐगा पीने का पानी, लोगों ने लिया फैसला

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 11 2019 7:34PM
वोट उसी को जो दिलाऐगा पीने का पानी, लोगों ने लिया फैसला
--15 से 20 दिन में आता है लोगों के घरों में पानी --कुओं व नलकूपों का पानी है खारा, गर्मी के मौसम में पशु, पक्षी बेहाल भिवानी, 11 अप्रैल। (हि.स.)। भिवानी शहर के साथ लगते गांव उमरावत के निवासियों ने कहा है कि जो पार्टी अथवा नेता उनके लिए पेयजल व सिंचाई के पानी की व्यवस्था करेगा वे उसी को ही वोट देंगे। उन्होंने कहा कि वे नेताओं व पार्टियों के वायदों से तंग आ चुके हैं और पिछले 30 वर्षों से पानी की गम्भीर समस्या से जुझ रहे हैं। गुरूवार को गांव में ही सरपंच दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में बैठक करके ग्रामीणों ने यह निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि गांव में पीने के पानी की भयंकर समस्या बनी हुई है। आए दिन लोगों को पीने के पानी के लिए कभी दूसरे गांव तो कभी खेतों में बनी कुईयों का सहारा लेना पड़ रहा है। गांव में कुओं व हैडपम्पों का पानी भी खारा है। जिसकों पशु भी नहीं पीते हैं उसके लिए ग्रामीण खारे पानी में मीठा जल मिलाकर अपने पशुओं को पिलाते हैं। दुधारू पशुओं का तो ओर भी बुरा हाल है। ना तो जोहड़ों में पानी है और न ही नककूपों मेें इतना पानी आता है जिससे ग्रामीण उनकों नहला सके। अधिकतर ग्रामीण तो टैंकरों व कैम्फरों का पानी मंगवाते हैं। गांव में आबादी के हिसाब से लगभग 5 से 6 हजार रूपए का पानी रोजाना लग जाता है। क्या कहते हैं ग्रामीण रामधारी, भोलू राम, रिसाला, मनीराम, मांगेराम ने कहा कि उनके गांव की लाईन का जुड़ाव पहले कोंट गांव से था तो पानी 3 से 4 दिन में आ जाता था जब से नया जलघर बना है और उसका कनेक्शन कोंट से हुआ तब से उनके पानी की समस्या बनी हुई है। उन्होंने कहा कि इसके लिए वे कई बार स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से भी मिले व अपनी समस्या के बारे में अवगत करवाया लेकिन अधिकारी उन्हें आश्वासन ही देते हैं। हकीकत में काम कोई नहीं करता है। उनका कहना था कि वे भिवानी के विधायक घनश्याम सर्राफ से भी पीने के लिए पानी की गुहार लगा चुके हैं, लेकिन आज तक उनकी समस्या का हल नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार का कार्यकाल भी लगभग समाप्त होने है। सरकार ने चुनाव से पहले ये वायदा किया था कि उनकी समस्या का प्राथमिकता से हल किया जाएगा वो भी अपनी मांग को उठाते रहे हैं। ग्रामीणों ने कहा कि वो वोट उसी को देंगे जो उनकी पीने के पानी की समस्या का हल करेगा। क्या कहते हैं सरपंच सरपंच दिनेश शर्मा ने कहा कि वो पीने के पानी की समस्या को लेकर कई बार विधायक घनश्याम सर्राफ से मिल चुके हैं और अधिकारियों से भी बात कर चुके हैं, लेकिन सभी उनकों गुमराह कर रहे हैं। समस्या का कोई भी हल नहीं कर रहा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण वोट उसी को देंगे जो उनकी समस्या का निदान करेगा। हिन्दुस्थान समाचार/मनोज/पंकज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image