Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 11:59 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सोमनाथ मंशा देवी मंदिर में लगा मेला

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 11 2019 6:50PM
सोमनाथ मंशा देवी मंदिर में लगा मेला
नवरात्र पर माता के दर्शन को उमड़ी भीड़ जींद, 11 अप्रैल (हि.स.)। शारदीय नवरात्र की छठ पर वीरवार को सोमनाथ मंशा देवी मंदिर में मेला लगा। मेले में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मत्था टेक कर मन्नतें मांगी। इस मौके पर श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन कर सुखी जीवन की कामना की। नवरात्र की छठ पर श्री सोमनाथ मंशा देवी मंदिर में श्रद्धालु बुधवार रात को ही पहुंचना शुरू हो गए थे। रात को यहां पर माता का जागरण भी आयोजित किया गया था। नवरात्र के छठ के दिन कात्यायनी देवी के दर्शन का विशेष महत्व समझा जाता है। सोमनाथ मंदिर में देवी भगवती के दर्शन के श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी लाइनें लग गई। इस मौके पर मंदिर में उमडऩे वाली भीड़ को ध्यान में रखकर सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए गए थे। मंदिर प्रबंध समिति ने भीड़ को देखते हुए महिला तथा पुरूषों के लिए मंदिर प्रांगण में बेरीकेडिंग की थी। देवी भगवती के दर्शन के लिए महिलाओं की संख्या अधिक थी। इस दौरान मंदिर की भव्य सजावट की गई। भीड़ को देखते हुए श्रद्धालुओं के प्रवेश और निकास के लिए अलग-अलग व्यवस्था करनी पड़ी। वहीं प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टिï से पुलिस की चौकसी की गई थी वहीं मेला कमेटी के सदस्य भी पूरी सतर्कता से जुटे रहे। नवरात्र की छठ पर सोमनाथ मंदिर के बाद मेले का आयोजन किया गया। इसमें श्रद्धालुओं ने जमकर खरीददारी की। महिलाओं ने जहां घर के साजो-सामान खरीदा, वहीं बच्चों ने अपने लिए खिलौने खरीदे। पूरा दिन मंदिर के बाहर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। श्रद्धालुओं के लिए जयंती मंदिर में शुक्रवार को बनेंगे खास पकवान महाभारतकालीन जयंता देवी मंदिर में नवरात्रों की सप्तमी पर शुक्रवार को लगने वाले मेले में दिन भर भंडारा चलेगा। इस भंडारे में व्रत धारियों के लिए भी खीर और पकौड़ों सहित अन्य खास पकवान परोसे जाएंगे। मंदिर के पुजारी पंडित नवीन कुमार शास्त्री ने बताया कि लगभग 10 क्विंटल खीर बनाई जाएगी। यह खीर सामकिये से तैयार की जाएगी, जबकि 4 क्विंटल पकोड़े आलू और कट्टू के आटे से तैयार होंगे। उन्होंने कहा कि मंदिर में नवरात्रों के दिनों के दौरान लगने वाले इस मेले में जींद ही नहीं, देश-प्रदेश भर से श्रद्धालु पहुंचते हैं। इस दिन मंदिर में मां की अर्चना का खास महत्व होने के कारण ही लाखों श्रद्धालु उमड़ते हैं। पुजारी नवीन कुमार शास्त्री ने कहा कि श्रद्धालु सीधे मां के दरबार में पहुंचे और पूजा-अर्चना कर अपनी मुरादें पूरी करें। उन्होंने बताया कि मेले की तैयारियों को लेकर मंदिर को जहां दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है, वहीं व्यवस्था बनाए रखने के लिए स्वयं सेवी तो तैनात होंगे ही, साथ में पुलिस बल भी नजर गाढ़े रहेगा। हिन्दुस्थान समाचार/विजेंद्र/पंकज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image