Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 12:35 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

शहर के दो सरकारी मॉडल स्कूलों में दाखिला लेने के लिए मारामारी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 10 2019 6:56PM
शहर के दो सरकारी मॉडल स्कूलों में दाखिला लेने के लिए मारामारी
पंचकूला, 10 अपैल (हि. स.)। ट्राई सिटी के स्कूलों में बच्चों के दाखिलें के लिए हर माता-पिता ने मेहनत व सिफारिश करवानी पड़ती है। इसी को लेकर पंचकूला शहर के कई प्राईवेट स्कूलों के साथ-साथ दो सरकारी मॉडल स्कूलों में भी दाखिला लेने के लिए इन दिनों खूब मारामारी चल रही है। बड़े अधिकारियों एवं राजनेताओं के घर पर काम करने वालों के बच्चों को इन दोनों सरकारी मॉडलों स्कूलों में दाखिला चाहिए। पंचकूला के सेक्टर 12ए में सार्थक इंटीग्रेटिड मॉडल सीसे स्कूल एवं राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सैकंडरी स्कूल सेक्टर 20 पंचकूला में दाखिला लेने के लिए अभिभावकों पूरा जोर लगा रहे हैं। स्कूल में इंफ्र्रास्ट्रक्चर एवं कमरे कम हो गये हैं, लेकिन दबाव बनाने का जोर लगातार बढ़ता जा रहा है। हाल ही में स्कूल की ओर से कक्षा पहली का ड्रा निकाल दिया गया था। यह ड्रा एसएमसी के सदस्यों एवं अभिभावकों के सामने निकाला गया था, ताकि किसी तरह के भेदभाव की आशंका ना रहे। परंतु इसके बाद भी स्कूल प्रबंधन पर दाखिला ना मिलने पर दबाव बनाया जा रहा है। कुछ लोगों ने डीसी को यह तक शिकायत कर दी कि उन्हें फार्म ही नहीं मिला। इस स्कूल में फार्म लेने के लिए हजारों अभिभावक आते हैं, लेकिन सीमित फार्म ही होने के चलते सभी को फार्म नहीं मिल पाते। इस समय सार्थक स्कूल में बच्चों के लिए लगभग 30 कमरे हैं और छात्रों की संख्या लगभग 1700 पहुंच चुकी है। इस स्कूल में फिलहाल शिक्षकों की भी कमी है, जिसे शिक्षा विभाग द्वारा पिछले काफी समय से पूरा नहीं किया गया है। एक शिक्षक ने बताया कि स्कूल प्रबंधन पर इतना दबाव है कि कई बार दाखिलों के लिये फोन की घंटी बजते ही सिर घूमने लगता है कि फोन उठाएं ना उठाएं। सरकार को कमरे एवं स्टाफ बढ़ाना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/ रमेश/वेदपाल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image