Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 14:14 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

लोकसभा चुनाव : जजपा और आप के बीच बंधेगी बंधन की गांठ

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 10 2019 1:08PM
लोकसभा चुनाव : जजपा और आप के बीच बंधेगी बंधन की गांठ
- जजपा सुप्रीमो दुष्यंत चौटाला ने किया खुलासा जल्द होगा ऐलान, गठबंधन होते ही प्रत्याशियों की भी घोषणा चंडीगढ़, 10 अप्रैल (हि.स.)। जननायक जनता पार्टी व आम आदमी पार्टी के बीच हरियाणा में गठबंधन की बातें जींद विधानसभा उपचुनाव के समय से चल रही हैं। जींद उपचुनाव में आप ने जजपा प्रत्याशी दिग्विजय चौटाला का समर्थन किया था। मगर अभी तक बंधन की गांठ नहीं बंध पाई। अब उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही जजपा और आप के साथ समझौता होगा। इस बात का खुलासा खुद जननायक जनता पार्टी सुप्रीमो एवं हिसार के निवर्तमान सांसद दुष्यंत चौटाला ने किया। वे बुधवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि गठबंधन को लेकर तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया था, जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डॉ. केसी बांगड़, प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह व कादियान शामिल थे। कमेटी की ओर से रिपोर्ट जजपा संरक्षक डॉ. अजय चौटाला को सौंप दी गई है। जल्द ही रिपोर्ट के आधार पर नवरात्रों में खुशखबरी मिली। एक-दो दिन में गठबंधन का ऐलान होगा। गठबंधन के बाद प्रत्याशियों के नामों की भी घोषणा कर दी जाएगी। अलबत्ता दुष्यंत चौटाला ने कांग्रेस के साथ गठबंधन की बात को खारिज कर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि यदि हरियाणा में आप का कांग्रेस के साथ समझौता होता है तो आप से समझौता नहीं करेंगे। क्योंकि वर्ष 1971 में जननायक ताऊ देवीलाल ने कांग्रेस छोड़ दी थी और तब से लेकर अब तक प्रदेश में कांग्रेस के साथ लड़ाई लड़ चल रही है। हालांकि दुष्यंत चौटाला ने सार्वजनिक तौर पर आप के साथ समझौता करने की बात नहीं स्वीकारी, केवल इतना कहा कि समान विचारधारा के साथ गठबंधन होगा, इसमें कई दल शामिल हैं। गठबंधन में इनेलो के शामिल होने के सवाल पर दुष्यंत ने कहा कि जजपा का गठन ही इनेलो के खिलाफ हुआ है। चाचा अभय पर साधा निशाना चार विधायकों की सदस्यता रद्द करने के सवाल पर दुष्यंत चौटाला ने अपने चाचा अभय चौटाला पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इनेलो का एक विधायक पिछले साढ़े चार साल से भाजपा के हर कार्यक्रम में शामिल हो रहा है। मगर उसकी सदस्यता रद्द करने को लेकर कोई कदम नहीं उठाया गया, केवल चार विधायकों की सदस्यता ही रद्द करने की बात कही है।उन्होंने यह भी कहा कि चारों विधायकों ने जजपा का समर्थन किया है,हालांकि उन्होंने अभी तक जजपा की सदस्यता नहीं ली है। हिसार से चुनाव लड़ना ही प्राथमिकता हिसार के निवर्तमान सांसद एवं जजपा सुप्रीमो दुष्यंत चौटाला ने दोबारा फिर हिसार से चुनाव लड़ने को प्राथमिकता दी है। उन्होंने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता हिसार रहेगी। इसके साथ ही पार्टी जो जिम्मेवारी सौंपेगी, उसे निभाया जाएगा। भाजपा के घोषणा पत्र पर उठाए सवाल भाजपा की ओर से जारी किए गए संकल्प पत्र पर हिसार के निवर्तमान सांसद दुष्यंत चौटाला ने सवाल उठाते हुए कहा कि घोषणा पत्र में रोजगार की कोई जानकारी नहीं है। ये हैरानी की बात है पांच साल के रोजगार के आंकड़े भी सरकार नहीं दे पाई। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की बात लगातार की गई, लेकिन इनके घोषणा पत्र में ट्रिपल तलाक के अलावा महिला सशक्तिकरण पर घोषणा पत्र खाली है।भाजपा के घोषणा पत्र में किसानों के हित की भी बात कही गई, लेकिन पिछले पांच सालों में किसानों को कितना समर्थन मूल्य दिया गया इसका जिक्र तक भी नहीं किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/वेदपाल/सुभाष
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image