Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 19:51 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

फैक्टरी चौकीदार की हत्या मामले में 8 माह बाद पकड़े गए चार आरोपी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 6:46PM
फैक्टरी चौकीदार की हत्या मामले में 8 माह बाद पकड़े गए चार आरोपी
फतेहाबाद, 9 अप्रैल (हि.स.)। जिले के शहर रतिया की कलर कालोनी स्थित गुलाब फैक्ट्री में करीब 8 माह पूर्व चोरी की नीयत से घुसे युवकों द्वारा चौकीदार की हत्या करने के मामले में पुलिस ने सफलता हासिल करते हुए चार युवकों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान ढाणी शेरखां निवासी जसपाल, पीरु राम बस्ती निवासी मजनू, वार्ड नंबर 12 रतिया निवासी सचिन और रतिया निवासी विजय के रूप में हुई है। पुलिस ने चारों युवकों को मंगलवार को अदालत में पेश किया जहां से अदालत ने इन्हें दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पूछताछ में पता चला है कि 8 युवकों के गैंग ने चौकीदार की हत्या की थी जिसमें 4 आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं जबकि अन्य की पुलिस तलाश में जुटी है। मिली के अनुसार आठ माह पूर्व 9 अगस्त को टोहाना रोड पर कलर कॉलोनी स्थित गुलाब टॉफी फैक्टरी में चोरी की नीयत से घुसकर अज्ञात लोगों ने सोए हुए चौकीदार की चारपाई पर बांधकर हत्या कर दी थी। इस मामले में मृतक चौकीदार नंदलाल के भाई सुभाष की शिकायत पर रतिया पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या और विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। आठ माह पूर्व हुई चौकीदार की हत्या करने के मामले में सीआईए स्टाफ और रतिया पुलिस ने आठ आरोपियों में से मुख्य आरोपी ढाणी शेरखां निवासी जसपाल, पीरु राम बस्ती निवासी मजनू, वार्ड नंबर 12 निवासी सचिन और रतिया निवासी विजय नामक चार युवकों को काबू किया है। इस बारे में जानकारी देते हुए रतिया सदर थाना अध्यक्ष कपिल सिहाग ने बताया कि शहर में चोरी की वारदातों को सुलझाने के लिए सीआईए स्टाफ ने पीरु राम बस्ती निवासी मजनू नामक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। मजनू ने हालांकि कोई चोरी तो नहीं कबूली लेकिन गुलाब टॉफी फैक्ट्री के चौकीदार नंदलाल हत्या का मामला का खुलासा किया। थानाध्यक्ष कपिल सिहाग के अनुसार मजनू ने उक्त हत्या का खुलासा करते हुए पूछताछ के दौरान बताया कि वे आठ युवक इकट्ठे रहते थे तथा ढाणी शेरखंा निवासी जसपाल पहले गुलाब टाफी फैक्टरी में काम करता था लेकिन फैक्टरी के बंद होने के बाद खाली घूम रहा था तथा शिवरात्रि के उपलक्ष में उन दिनों रात को जगह-जगह लंगर सेवा चल रही थी। उक्त आठों युवक एक लंगर सेवा में इकट्ठे हुए तथा कोई बड़ी चोरी की वारदात करने की सोची तो जसपाल ने बताया कि गुलाब फैक्ट्री में रात को नगदी पड़ी होती है इसलिए वहां से नकदी पर हाथ साफ करते हैं। इसके बाद आठ युवकों में से दो युवक फैक्ट्री के गेट पर खड़े गई और जसपाल सहित छह युवक फैक्ट्री का एल्युमीनियम गेट तोड़कर अंदर चले गए। अंदर जाने पर चौकीदार नंदलाल ने जसपाल को पहचान लिया जिस पर उक्त सभी युवक डर गए कि अब मामले का खुलासा हो जाएगा इसके चलते उक्त युवकों ने चौकीदार नंदलाल को चारपाई पर लिटा कर उसके मुंह पर तकिया रखकर उस की हत्या कर दी। पुलिस ने मजनू द्वारा किए गए हत्या के खुलासे के बाद जसपाल, विजय, सचिन सहित 4 युवकों को काबू कर अदालत में पेश किया और दो दिन के पुलिस रिमांड पर पर लेकर 4 अन्य युवकों की तलाश शुरू कर दी है। हिन्दुस्थान समाचार/अर्जुन/वेदपाल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image