Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 20:14 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

अभी दोनों दलों के बीच नहीं हुआ है गठबंधन, लेकिन संभावनाएं नहीं हुई है समाप्त

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 6:39PM
अभी दोनों दलों के बीच नहीं हुआ है गठबंधन, लेकिन संभावनाएं नहीं हुई है समाप्त
रेवाड़ी, 9 अप्रैल (हि.स.)। कांग्रेस व आम आदमी पार्टी में अभी गठबंधन नहीं हुआ है, लेकिन चर्चाओं पर अभी विराम भी नहीं लगा है। कांग्रेस, आप को राज्य में लोकसभा की एक सीट देना चाहती है। यदि आप इस पर सहमत होती है और गुरुग्राम सीट उसके खाते में आ जाती है, तो निश्चित रूप से यह कांग्रेस के लिए फायदा व भाजपा के लिए नुकसान साबित होगा, क्योंकि विशेषतौर पर शहरी क्षेत्र में आप में आस्था रखने वालों की कमी नहीं है। कांग्रेस व आप में गठबंधन पर पिछले कई दिनों से वार्ता चल रही है। आप व कांग्रेस में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली व गोवा में गठबंधन कर चुनाव लड़ने पर कई वार्ता हो चुकी है, लेकिन अभी बात नहीं बन पाई है, लेकिन राजनीतिक गलियारे में चल रही चर्चाओं को देखें तो संभावना पर अभी विराम नहीं लगा है। चर्चा यह भी है कि कांग्रेस ने अभी तक राज्य की दस में से पांच सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा की है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा 11 अप्रैल तक शेष सभी सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा होने की संभावना जता रहे हैं। राजनीतिक सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस ने आप से चल रही गठबंधन की बातों के चलते ही पांच सीटों को अभी बचाकर रखा है। हालांकि आप ने राज्य में सीट को लेकर कोई बात नहीं की है, फिर भी यह माना जा रहा है कि आप राज्य की किसी भी सीट की डिमांड कर सकती है। चर्चा है कि गुरूग्राम लोकसभा सीट एनसीआर में आती है और दिल्ली में आम आदमी पार्टी की फुल बहुमत की सरकार है, मतलब आप दिल्ली में फिलहाल तक मजबूत है। दिल्ली में सरकार होने के नाते भी दक्षिणी हरियाणा में आप के कार्यकर्ताओं की संख्या अच्छी खासी है, ऐसी सूरत में आप गुरुग्राम सीट पर दावेदारी पेश कर सकती है और यदि ऐसा होता है। कांग्रेस को आप का साथ मिलता है तो यह भाजपा के लिए नुकसान भरा हो सकता है। भाजपा ने रोहतक व हिसार सीट को अभी छोड़ा हुआ है। चर्चा है कि भाजपा शायद यह सोच रही है कि संभवतया कांग्रेस व आप में गठबंधन हो जाए और आप रोहतक की सीट पर अपनी दावेदारी पेश करे, क्योंकि आप के प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिंद रोहतक क्षेत्र के ही हैं और वह लोकसभा का चुनाव लड़ने की भी इच्छा जता चुके हैं, इसलिए इनका फैसला होने के बाद ही दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारे जाए। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेंद्र/वेदपाल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image