Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 11:58 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भवन निर्माण कारीगर मजदूरों ने ज्वलंत मुद्दों को लेकर किया प्रदर्शन

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 5:06PM
भवन निर्माण कारीगर मजदूरों ने ज्वलंत मुद्दों को लेकर किया प्रदर्शन
रोहतक, 9 अप्रैल (हि.स.)। भवन निर्माण कारीगर मजदूरों ने सरकार पर पूंजीपतियों का फायदा पहुंचाने व श्रमिकों का शोषण करने का आरोप लगाते हुए शहर में प्रदर्शन किया और प्रशासनिक अधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। साथ ही श्रमिकों ने सरकार को चेताया कि इसका खामियाजा चुनाव में सरकार को भुगतना पड़ेगा। मंगलवार को काफी संख्या में एआईयूटीयूसी से सम्बद्ध भवन निर्माण कारीगर मजदूर यूनियन के बैनर तले निर्माण श्रमिक मानसरोवर पार्क में एकत्रित हुए और रोष सभा का आयोजन किया। प्रधान राजकुमार ने कहा कि भवन निर्माण कारीगर-मजदूर असंगठित क्षेत्र के श्रमिक हैं और उनका समाज की प्रगति में उल्लेखनीय योगदान है। सरकार उन्हें कोई भी सामाजिक सुरक्षा लाभ देने के लिए कतई गंभीर नहीं है। श्रमिकों के जीवन में समस्याएं कम होने की बजाय बढ़ती जा रही है। विभिन्न बहानों की आड़ लेकर निर्माण श्रमिकों को पंजीकरण और हितलाभों से वंचित करके सरकार घोर अन्याय कर रही है। श्रमिकों को नाजायज तंग करने के लिए बार-बार नियम बदल कर हितलाभों को पाने में बाधा डाली जा रही है। भवन निर्माण कामगारों के कल्याण बोर्ड के पास हजारों करोड़ रुपये जमा पडे़ हैं लेकिन अब तक श्रमिकों के कल्याण के लिए कोई पैसा खर्च नहीं किया गया। बोर्ड का न कोई आधारभूत ढांचा है। ऑनलाइन पंजीकरण व आवेदन अनपढ़ गरीब मजदूरों के लिए जी का जंजाल बना हुआ है। सरकार की मजदूर-विरोधी और गलत नीतियों के कारण उन्हें रोजगार से भी हाथ धोना पड रहा है। उन्होंने कहा कि दूसरों के लिए मकान बनाने वालों के पास अपना ढंग का मकान तक नहीं है। लेबर चौकों पर न तो पेयजल का इंतजाम है, न शौचालय है और न ही कोई शैड है। उन्होंने बोर्ड का आधारभूत ढांचा तैयार करने, इसमें हर ट्रेड यूनियन का प्रतिनिधि लेने, पंजीकरण कराने व हितलाभ पाने की प्रक्रिया में यूनियनों की भागीदारी और अधिकार बहाल करने, सभी निर्माण श्रमिकों का पंजीकरण सुनिश्चित करने, प्रक्रिया सरल बनाने, सब जिलों में पंजीकरण ऑफिस खोलने, आवेदन की ऑफलाइन व ऑनलाइन उचित व्यवस्था करने, पंजीकरण और सभी हितलाभ मिलने सुनिश्चित करने, ऑनलाइन वालों को भी ऑफलाइन वालों की तरह कॉपी दी जाने, एक साल बाद हितलाभ देने का प्रावधान हटाने की मांग की। इस अवसर पर हरीश, जयकरण, केसू काहनौर, विकास, सुंदर, राकेश आदि मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/पंकज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image