Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 20:45 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

एमबीबीएस की परीक्षा में दाखिल कराने की आड़ में हड़पे 85 लाख 35 हजार रुपये

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 7 2019 8:38PM
एमबीबीएस की परीक्षा में दाखिल कराने की आड़ में हड़पे 85 लाख 35 हजार रुपये
आरोपी के खिलाफ थाना सदर में धोखाधड़ी का मामला दर्ज आरोपी ने कनार्टका की यूनिवर्सिटी में दाखिला कराने के नाम पर लिए थे पैसे कुरुक्षेत्र, 07 अप्रैल (हि.स.)। एमबीबीएस की परीक्षा में दाखिल कराने के नाम पर 85 लाख 35 हजार रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। इस संबंध में पंजाब के मुकेरिया के तीन पीडि़तों ने थाना सदर में शिकायत दर्ज कर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पीडि़तों का आरोप है कि आरोपी ने कनार्टका की मेन पाल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस की परीक्षा में उनकी लड़कियों को दाखिला दिलवाने के लिए योजनाबद्ध तरीके से उनके लाखों रुपये हड़प लिए। पुलिस ने इस संबंध में विभिन्न धाराओं सहित केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। पंजाब के मुकेरियां जिला होशियारपुर निवासी अश्वनी कुमार महाजन, राजेंद्र महाजन व मनोहर सिंह ने रविवार को थाना सदर पुलिस में दी शिकायत में बताया कि आरोपी संदीप शर्मा निवासी सैक्टर-3 कुरुक्षेत्र, हाल निवासी डीएलएफ सिटी गुडग़ांव की उनसे मुलाकात वर्ष 2015 में मुकेरियां निवासी बलविंद्र के घर हुई थी। राजेंद्र महाजन ने बताया कि संदीप शर्मा ने बलविंद्र सिंह के पास तकरीबन 10-12 वर्ष नौकरी की। बलविंद्र सिंह के घर उनका आना जाना था। संदीप शर्मा ने उन्हेें बताया था कि कर्नाटका की यूनिवर्सिटी में उनकी अच्छी जान पहचान है। वे उनकी लड़कियों का वहां एमबीबीएस में दाखिला करा देंगे। वे संदीप शर्मा की बातों में आ गए। राजेंद्र महाजन ने बताया कि मैंने अपनी लड़की दीक्षा महाजन, अश्वनी महाजन ने अपनी लड़की मृदुला महाजन व मनोहर सिंह ने नवप्रीत सैनी के दाखिले के लिए संदीप शर्मा से 85 लाख 35 हजार रुपये में बात तय की। इसके बाद उन्होंने संदीप शर्मा को सैक्टर-3 के उनके निवास पर 50 लाख रुपये नकद दे दिए। इसके बाद उन्होंने मुकेरियां से संदीप शर्मा के खाते में एक लाख रुपये 10 जून 2015 को ओबीसी बैंक मुकेरियां की शाखा से जमा कराए। राजेंद्र महाजन ने बताया कि संदीप शर्मा के खाते में 8 लाख 45 हजार रुपये आरटीजीएस के माध्यम से 8 अगस्त 2015 को एसबीआई मुकेरियां से उनके खाते में ट्रांसफर कराए। संदीप शर्मा ने पैसे लेने के बाद जब काफी समय तक उनकी बेटियों का एडमिशन न होने के बारे में पूछा तो वह टालमटोल करने लगा। काफी प्रयास करने के बाद संदीप शर्मा ने उनके पैसे नहीं लौटाए तो उन्होंने अदालत की शरण ली। राजेंद्र महाजन ने बताया कि संदीप शर्मा ने उन्हें जो चैक सौंपे थे, उसके बैंक खातों में राशि जमा नहीं थी। इस संबंध में उन्होंने पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाई थी। पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच उप पुलिस अधीक्षक को सौंपी थी। जांच में मेरे साथ अश्वनी महाजन व मनोहर सिंह भी शामिल हुए थे। इस बारे में जब जांच अधिकारी नरेश कुमार से बातचीत की गई तो उन्होंने आरोपी संदीप शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। हिन्दुस्थान समाचार/बाबूराम/वेदपाल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image