Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, अप्रैल 23, 2019 | समय 04:11 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

देश को सही दिशा नहीं दे पाईं पूर्व सरकारें: मनोहर लाल

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 7 2019 8:22PM
देश को सही दिशा नहीं दे पाईं पूर्व सरकारें: मनोहर लाल
-कांग्रेस के घोषणापत्र पर जमकर बरसे मुख्यमंत्री, बताया देश को बांटना चाहती है कांग्रेस रोहतक, 07 अप्रैल (हि.स.)। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि देश को आजादी मिले 72 साल हो गए, लेकिन पूर्व सरकारें देश को सही दिशा नहीं दे पाईं। जब देश की रक्षा और सुरक्षा पर चोट लग जाए तो आम आदमी उठने लगता है। आतंकवादी दहशतगर्दी फैलाकर देश के टुकड़े करना चाहते हैं और प्रधानमंत्री मोदी कभी सर्जिकल स्ट्राइक तो कभी एयर स्ट्राइक करके आतंकवाद पर प्रहार कर रहे हैं। मगर कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में कहा है कि देशद्रोह का कानून साफ कर देंगे। 124ए धारा हटा देंगे। उन्होंने प्रश्न जड़ते हुए कहा, जो देशविरोधी भाषण देते हैं। नारे देते हैं। उनको भी जेल में नहीं डाल सकते, तो कांग्रेसी बताएं कि वह देशहित में क्या कर सकते हैं। कांग्रेस का घोषणापत्र देशहित में नहीं है। उन्होंने कहा कि देश कोई भूमि का टुकड़ा नहीं जो जाने देंगे। यह देश हमारी मां है। भारत हमारी माता है। मां के टुकड़े बेटे के सामने नहीं हो सकते। अगर ऐसा होता है तो वह बेटा सपूत नहीं कपूत है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल रविवार को रोहतक के बहुअकबरपुर में आयोजित विजय संकल्प रैली को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकसभा का चुनाव सामने है। भारत में चुनाव एक मेला होता है, जो हर पांच साल बाद लोकसभा व विधानसभा के रूप में आता है। कश्मीर से कन्याकुमारी तक कटक से कोलकाता तक, दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। हमारे मतदाता की समझ है, चाहे पढ़ा लिखा हो या अनपढ़, उसको अपने देश का भविष्य क्या हो, उसका भविष्य क्या हो, सरकार कैसी बने, इसको तय करने का पूरा हक है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कांग्रेस ने घोषणापत्र में कहा है कि कश्मीर से सेना कम कर देंगे। सेना के अधिकार कम कर देंगे तो वो क्या बहाना लेते है, 2016 में सर्जिकल स्ट्राइक का नेतृत्व करने वाले बीएस हुड्डा राहुल गांधी के संपर्क में आ गए। उन्होंने सुरक्षा के लिए रिपोर्ट बनाकर दी। इस 42 पेज की रिपोर्ट को कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में शामिल किया है। सच यह है कि इस रिपोर्ट को उल्टा कर दिया है। इस की जानकारी डीएस हुड्डा ने टीवी चैनल को दिए एक इंटरव्यू में दी थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस घोषणापत्र में कहती है कि महीने के 12 हजार रुपये देंगे। फिर कहते हैं साल में 72 हजार रुपये देंगे। इनका गणित समझ नहीं आता। प्रश्र ये उठता है कि 3 लाख 60 हजार करोड़ रुपये कहां से आएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री 5-10 हजार करोड़ रुपये खर्च करते हैं तो पहले हिसाब लगाते हैं, हर किसान को 6 हजार रुपये मिलेगा। इस योजना को सिरे चढ़ाने से पहले हिसाब लगाया कि आखिर 660 करोड़ रुपये कहां से आएंगे। हिसाब लगाने के बाद ही इसे मूर्तरूप दिया गया। किसान के बेटे मनोहर लाल ने सभी वादे किए पूरे इस रैली में कृषि एवं पंचायत मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि किसान का बेटा मुख्यमंत्री बना। लोगों से वादा किया, ओले पड़ेंगे सरकार के खजाने पर पडे़ंगे। इस दावे के साथ साढ़े चार साल में चार हजार करोड़ रुपये से ज्यादा मुआवजा किसानों को दिया। 15 साल में यह अपने आप में रिकार्ड है। एक हजार करोड़ रुपये साल में देने का काम किया है। हुड्डा के राज में मुआवजे के चेक ढाई रुपये के आते थे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इसे बदलते हुए किसानों के हित में कार्य किए। कांग्रेस झूठ बोलने और ठगने वालों की सरकार है। दस साल में हुड्डा ने नहीं ली जनता की सुध सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने कहा कि चुनाव का समय है। सभी पार्टियां आपके पास वोट मांगने आ रही है। भाजपा लोकतंत्र में विश्वास रखती है। कांग्रेस की बस यात्रा से एक-एक सवारी का उतरना यह बताने के लिए काफी है कि कांग्रेसियों को निजी स्वार्थ पूर्ति करने की चिंता सता रही है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अपने 10 साल के राज में कभी भी जनता की सुध नहीं ली। ये रहे मौजूद इस मौके पर रैली के संयोजक शमशेर खरकड़ा, बलवीर सिंह कुंडू, बलराज कुंडू, अजय बंसल, जिलाध्यक्ष भाजपा, मेयर मनमोहन गोयल, राजकमल सहगल, राजबीर आर्य, धर्मबीर हुड्डा, रामअवतार वाल्मीकि, रामचंद्र जांगडा सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/वेदपाल/मुकुंद
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image