Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 01:20 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

इनेलो के गढ़ में भाजपा की तरफ से ताल ठोकेंगी सुनीता दुग्गल

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 6 2019 9:40PM
इनेलो के गढ़ में भाजपा की तरफ से ताल ठोकेंगी सुनीता दुग्गल
फ़तेहाबाद,6 अप्रेल(हि.स.)। भाजपा द्वारा प्रदेश प्रवक्ता सुनीता दुग्गल को सिरसा संसदीय सीट के लिए बतौर प्रत्याशी मैदान में उतारने से भाजपा समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गयी है। इनेलो का सबसे मजबूत गढ माने जाने वाले सिरसा में दुग्गल के उतरने से यहां मुकाबला न केवल रोचक हो गया है बल्कि सिरसा सीट की गिनती हॉट सीट मे शुमार हो गयी है। वर्तमान में सिरसा की सीट इनेलो के खाते में और यह चरनजीत सिंह रोड़ी सांसद है। अनुसूचित जाति के लिए रिजर्व सिरसा संसदीय सीट के अंतर्गत 9 विधानसभा सीटों में पिछले विधानसभा चुनाव में 8 पर इनेलो काबिज हुई। केवल एक सीट टोहाना के सुभाष बराला ने अपनी जीत का परचम लहराया था। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर चरणजीत रोड़ी से पहले संसद चुने जा चुके है और आगामी चुनाव के लिए भी कांग्रेस की टिकट पाकर वो पहले से ही अपनी ताल ठोक चुके है। पूर्व आयकर आयुक्त के पद से त्यागपत्र देकर पिछले 5 साल से राजनीति में सक्रिय सुनीता दुग्गल ने पूरा समय सिरसा संसदीय क्षेत्र के लोगों के बीच रहकर अपनी खूब पैठ बनाई है। दुग्गल ने पिछले लोकसभा चुनाव में सिरसा से भाग्य आजमाने के लिए आयकर आयुक्त के पद से त्यागपत्र दिया था। लेकिन भाजपा हजकां गठबंधन के चलते सिरसा की सीट हजकां प्रत्याशी के खाते में चली गयी। बाद में हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी ने सुनीता को रतिया से बतौर प्रत्याशी मैदान में उतारा लेकिन वो मात्र 425 वोटों से चुनाव हार गई। हारने के बाद सुनीता दुग्गल ने लोगों से लगातार संपर्क बनाए रखा। भाजपा प्रवक्ता के साथ साथ प्रदेश सरकार ने उन्हें 3 साल पहले हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के चैयरपर्सन का दायित्व सौपा, जिसे उन्होंने बखूबी निभाया। अब भाजपा की टिकट मिलने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं और उनके समर्थकों में खुशी और उत्साह का संचार हुआ है। बेहद विनम्र स्वभाव की सुनीता दुग्गल पिछले 5 साल तक सिरसा हल्के के प्रत्येक गांव, शहर में लगातार लोगों से जुड़ी रही। इसलिए उनकी गिनती बेहद मजबूत प्रत्याशी के तौर पर टिकट मिलने से पहले ही कि जाती रही है। दुग्गल टिकट मिलने की घोषणा से कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर के खेमे में चिंता फैल गयी है वही टुकड़ो में बंट गयी इनेलो के गढ़ में निश्चित तौर पर भाजपा की बड़ी सेंध लगने वाली है। हिन्दुस्थान समाचार/अर्जुन/वेेदपाल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image